लेखक परिचय

डा. राधेश्याम द्विवेदी

डा. राधेश्याम द्विवेदी

Library & Information Officer A.S.I. Agra

Posted On by &filed under प्रवक्ता न्यूज़.


teacher1958 से पुरस्कार प्रारंभ:-शिक्षकों के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार 1958 से प्रारंभ किए गए, शिक्षकों को राष्ट्रीय पुरस्कार भारत के राष्ट्रपति द्वारा प्रारंभिक, मिडल और माध्यमिक स्कूलों में कार्य कर रहे प्रतिभाशाली शिक्षकों को सार्वजनिक रूप से सम्मानित करने के लिए प्रत्येक वर्ष 5 सितंबर (शिक्षक दिवस) को दिया जाता है। समग्र रूप से 374 पुरस्कार हैं जिसमें से 20 पुरस्कार संस्कृत, फारसी और अरबी शिक्षकों के लिए आरक्षित हैं। प्रत्येक राज्य/संघ शासित प्रदेश/संगठन अपने शिक्षकों के आधार पर कोटा निर्धारित करता है। इस योजना में विदेश में स्थित स्वतंत्र संबद्ध स्कूलों, भारतीय स्कूल प्रमाणपत्र परीक्षा परिषद (सीआईएससीई), सैनिक स्कूल, केन्द्रीय विद्यालय संगठन (केवीएस), नवोदय विद्यालय समिति (एनवीएस), केन्द्रीय तिब्बती स्कूल प्रशासन (सीटीएसए) और परमाणु ऊर्जा शिक्षा समिति द्वारा चलाए जा रहे स्कूलों के शिक्षकों सहित केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड से संबद्ध स्कूलों के शिक्षकों को भी कवर करती है।
वर्ष 2015 में 346 शिक्षकों का चयन :-शिक्षक दिवस पर पूरे देश के 346 शिक्षकों को राष्ट्रीय अध्यापक पुरस्कार से सम्मानित किया गया। यह पुरस्कार राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने दिल्ली के विज्ञान भवन में दिया। इनमें प्राथमिक और माध्यमिक शिक्षकों के साथ ही संस्कृत के शिक्षकों की अलग से श्रेणी है। विभिन्न राज्यों के साथ ही केंद्रीय बोर्ड के शिक्षकों भी शामिल किया गया। पुरस्कार के लिए स्कूली शिक्षा में वर्ष 2015 के दौरान उल्लेखनीय योगदान के लिए विभिन्न श्रेणियों में कुल 346 शिक्षकों का चयन किया गया। 5 सितंबर को आयोजित मुख्य सम्मान समारोह से पहले 4 सितंबर को मानव संसाधन विकास मंत्रालय की ओर से उनके लिए विशेष रात्रिभोज का आयोजन किया गया था। इसमें सरकारी, सीबीएसई, केवी, नवोदय, आईसीटी, सीआईएससीई के अवार्ड शामिल हैं।खास बात है कि मंत्रालय ने सीबीएसई के यूएई के कतर स्थित शांति निकेतन इंडियन स्कूल के प्रिंसिपल डॉ. सुभाष भास्करन नायर और दुबई स्थित जीईएमएस आवर ऑन इंग्लिश हाई स्कूल के कार्यकारी प्रधानाचार्य थॉमस मैथ्यू का नाम भी शामिल किया है।
अवार्ड में प्राथमिक विद्यालय शिक्षक, माध्यमिक विद्यालय शिक्षक, विशेष श्रेणी समेत संस्कृत भाषा के शिक्षक वर्ग शामिल है।इसमें सरकारी, सीबीएसई, केवी, नवोदय, आईसीटी, सीआईएससीई के अवार्ड शामिल हैं। मानव संसाधन विकास मंत्रालय अंतर्राष्ट्रीय शिक्षक दिवस पर विज्ञान भवन में 5 सितंबर को राष्ट्रीय शिक्षक अवार्ड देगा। राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी शिक्षकों को सर्वोच्च समान से सम्मानित करेंगे। अवार्ड में प्राथमिक विद्यालय शिक्षक, माध्यमिक विद्यालय शिक्षक, विशेष श्रेणी समेत संस्कृत भाषा के शिक्षक वर्ग शामिल है।
उत्तर प्रदेश के 30 शिक्षक सम्मानित:- शिक्षक दिवस के अवसर पर उत्तर प्रदेश के कुल 30 शिक्षकों को राष्ट्रीय अध्यापक पुरस्कार-2015 से नवाजा गया है । इनमें 19 पुरस्कार बेसिक शिक्षा तथा 11 पुरस्कार माध्यमिक विद्यालयों में पढ़ाने वाले शिक्षकों को दिए गए । पूर्व माध्यमिक विद्यालयों के शिक्षकों को तीन साल का सेवा विस्तार मिलेगा। संस्कृत के दो शिक्षकों को अलग से सम्मानित किया गया। उत्तर प्रदेश :सिद्धार्थनगर के नसीम अहमद, बिजनौर के प्रकाश चंद्र चक्रवर्ती, फरुर्खाबाद की भारती मिश्रा, उन्नाव की सुधा देवी शुक्ला, सुल्तानपुर के कृष्ण प्रसाद यादव बदायूं के कुंवरसेन व असरार अहमद खां, बस्ती के राम गुलाम, गाजियाबाद की शादाब कमर, चोपन के उमा शंकर सिंह, एटा के मुनीष चंद्र, बलिया के विक्रम सिंह यादव, पीलीभीत के अब्दुल वाहिद, बाराबंकी के सुभाष चंद्र श्रीवास्तव, जौनपुर के सत्यप्रकाश पांडेय, राजगढ़ मीरजापुर की रामसवारी देवी व लखनऊ के फजील अहमद खान शामिल हैं। जबकि विशेष श्रेणी में प्रतापपुर के अजीत कुमार द्विवेदी, फरुर्खाबाद की चमन शुक्ला, गाजियाबाद की सुधारानी कटियार, आगरा के डॉ. सत्यप्रकाश, फिरोजाबाद के डॉ. सुरेंद्र सिंह यादव,लखनऊ की वंदना कुमारी, सोनभद्र के डॉ. विजेंद्र सिंह, आजमगढ़ के अनवर जहां, मैनपुरी के रामनारायण बाथम, मुजफ्फरनगर के वशिष्ठ भारद्वाज, इटावा के डॉ. राजीव कुमार का नाम है। जबकि संस्कृत शिक्षक में गोरखपुर के डॉ. हरिद्वार शुक्ला, देवरिया के सतीश चंद्र तिवारी शामिल हैं। इनमें पूर्व माध्यमिक विद्यालय रायपुर चिनहट के हेडमास्टर फजील अहमद खान और राजकीय बालिका इंटर कॉलेज सरोसा-भरोसा की शिक्षिका वंदना तिवारी शामिल हैं। पुरस्कार रूवरूप प्रत्येक शिक्षक को 50 हजार रुपए का ड्राफ्ट, सिल्वर मेडल, प्रमाण पत्र के साथ-साथ दो साल का सेवा विस्तार दिया गया। वहीं माध्यमिक विद्यालयों के शिक्षकों को इन सबके साथ तीन साल का सेवा विस्तार दिया जाएगा।
प्राइमरी स्कूलों के चयनित शिक्षक : नसीम अहमद, उच्च प्रा.वि.डुमरियागंज-सिद्धार्थ नगर, प्रकाश चंद्र चक्रवर्ती, प्रा.स्कूल अहमदपुर-बिजनौर, भारती मिश्रा, सेकेंडरी स्कूल मोहम्मदपुर-फर्रुखाबाद, सुधा देवी शुक्ला, उच्च प्रा.वि. तेंदुआ हिरन-उन्नाव, कृष्ण प्रसाद यादव, अपर प्रा.स्कूल कटसरी-सुल्तानपुर, कुंवरसेन, पूर्व मा.वि.हरिहरपुर-बदायूं, इसरार अहमद खान-पूर्व मा.वि.रौली, बदायूं, राम गुलाम, पूर्व मा.वि. चकिया-बस्ती, शादाब कमर, पूर्व मा.वि.वैशाली नगर क्षेत्र-गाजियाबाद, उमा शंकर सिंह, पूर्व मा.वि.बरडिया चोपन-सोनभद्र, मुनीष चंद्रा, यूपीएस बड़ा गांव-एटा, बिक्रम सिंह यादव, जूनियर हाईस्कूल टिका देवरी -बलिया, अब्दुल वहीद, उच्च प्रा.वि.माधोपुर-पीलीभीत, सुभाष चंद्र श्रीवास्तव, यूपीएस बदेल-1 ब्लॉक बंकी-बाराबंकी, सत्य प्रकाश पांडेय, पूर्व मा.वि.कड़ीपुर धर्मपुर-जौनपुर, रामेश्वरी देवी, प्राइमरी स्कूल राजगृह-मिर्जापुर, फजील अहमद खान, पूर्व मा.वि.रायपुर चिनहट-लखनऊ।
स्पेशल कैटेगरी(प्राइमरी) : अजित कुमार द्विवेदी, पूर्व मा.वि.रिठुवन प्रतापपुर-इलाहाबाद, चमन शुक्ला, शांति पूर्व मा.वि.भोलेपुर-फर्रुखाबाद। चयनित माध्यमिक शिक्षकों के नाम : सुभा रानी कटियार, राजकीय बालिका इं.कॉ.-गाजियाबाद, डॉ.सत्य प्रकाश, राजकीय इं.कॉलेज शाहगंज-आगरा, डॉ.सुरेंद्र सिंह यादव, राजकीय बालिका इं.कॉ.टुंडला-फिरोजाबाद, वंदना तिवारी, राजकीय बालिका इं.कॉ.सरोसा-भरोसा-लखनऊ, डॉ.बृजेंद्र सिंह, आदिवासी इंटरमीडिएट कॉलेज-सोनभद्र, अनवर जहां, राजकीय बालिका इं.कॉ.सिविल लाइन-आजमगढ़, राम नारायण बाथम, नर्सिंग यादव इं.कॉ.करहल-मैनपुरी। स्पेशल कैटेगरी (माध्यमिक) : डॉ.राजीव कुमार, शिवनारायण इं.कॉ.गाडीपुरा-इटावा।
संस्कृत टीचर : डॉ.हरिद्वार शुक्ला, श्री गोरखनाथ संस्कृत विद्यापीठ-गोखपुर, सतीश चंद्र तिवारी, श्रीदेवी दत्त तिवारी शिक्षा संस्थान-देवरिया।
राज्य अध्यापक पुरस्कार :-शिक्षा विभाग द्वारा राज्य अध्यापक पुरस्कार-2015 व विद्यालय पुरस्कार वितरण समारोह का आयोजन सोमवार को शिक्षक दिवस पर डालीबाग स्थित लाल बहादुर शास्त्री गन्ना किसान संस्थान में किया गया । यह जानकारी बेसिक शिक्षा निदेशक दिनेश बाबू शर्मा ने दी। माध्यमिक शिक्षा निदेशक अमर नाथ वर्मा ने बताया कि समारोह की अध्यक्षता माध्यमिक शिक्षा मंत्री बलराम यादव ने किया तथा मुख्य अतिथि के रूप में बेसिक शिक्षा मंत्री अहमद हसन रहें । इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि के रूप में बेसिक शिक्षा राज्य मंत्री वसीम अहमद, माध्यमिक शिक्षा राज्य मंत्री विजय बहादुर पाल, बेसिक शिक्षा राज्य मंत्री कैलाश चौरसिया व सलाहकार, बेसिक शिक्षा श्रीप्रकाश राय उर्फ लल्लन राय उपस्थित रहें ।
बस्ती जिले के श्री राम गुलाम सम्मानित :-बस्ती जिले में कुदरहा ब्लॉक के चकिया पूर्व मा. विद्यालय में अध्यापक श्री राम गुलाम को नई दिल्ली के विज्ञान भवन में राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी राष्ट्रीय अध्यापक पुरस्कार से पुरस्कृत करते हुए प्राथमिक शिक्षा क्षेत्र में राष्ट्रीय अध्यापक पुरस्कार के लिए कुदरहा ब्लाक में परसांव गांव के राम गुलाम यादव का चयन किया गया है। उन्हें पांच सितंबर शिक्षक दिवस को दिल्ली के विज्ञान भवन में राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने सम्मानित किया । राम गुलाम यादव पूर्व माध्यमिक विद्यालय चकिया में शिक्षक रहे और 31 मार्च 2016 को रिटायर हो गए थे। सेवानिवृत्ति होने के बाद भी वह शिक्षण कार्यों में लगे हुए थे। राष्ट्रपति पुरस्कार के तहत उन्हें 50 हजार रुपए का ड्रॉफ्ट, सिल्वर मेडल और प्रमाण पत्र के साथ-साथ दो साल का सेवा विस्तार मिलेगा।

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz