लेखक परिचय

रवि कुमार छवि

रवि कुमार छवि

(भारतीय जनसंचार संस्थान)

अलविदा कैप्टन कूल : महेंद्र सिंह धोनी

Posted On & filed under विविधा.

साल 2007 में जब महेंद्र सिंह धोनी ने जब टीम इंडिया की कप्तानी संभाली तो शायद ही किसी ने सोचा था कि  धोनी की कप्तानी में भारतीय क्रिकेट टीम सफलता की नई कहानी लिखेगी। लेकिन धोनी ने अपनी कप्तानी और साहस भरे फैसलों से ना सिर्फ टीम इंडिया को टेस्ट की बादशाहत का दर्जा दिलाया… Read more »

कामयाबी से भरा रहा साल

Posted On & filed under खेल जगत, जन-जागरण.

साल 2016 में टीम इंडिया का प्रदर्शन साल 2016 टीम इंडिया के लिए शानदार रहा। टीम इंडिया ने इस दौरान इस एक भी टेस्ट मैच नहीं गंवाया। तो वहीं कोहली की अगुआई में टीम ने टेस्ट रैंकिग में नंबर एक की पोजिशन पर काबिज हुई। धोनी की कप्तानी में टीम इंडिया टी-20 विश्व कप में… Read more »



खत्म होती बादशाहत

Posted On & filed under खेल जगत, मनोरंजन, विविधा.

इस सीरीज़ के खत्म होने के बाद आस्ट्रेलिया को अपने घरेलू मैदान पर साउथ अफ्रीका से टेस्ट सीरीज़ खेलनी थी.. लेकिन दौरे के पहले टेस्ट में ही आस्ट्रेलिया को पर्थ में पटखनी में मिल गई.. और साउथ अफ्रीका ने उसे आसानी से 177 रनों से हराकर तीन टेस्ट मैचों की सीरीज़ में 1-0 की बढ़त बना ली.. ये पर्थ में साउथ अफ्रीका की आस्ट्रेलिया पर लगातार तीसरी जीत थी…

जंबों की नई उड़ान

Posted On & filed under खेल जगत, मनोरंजन, विविधा.

करीब दो दशकों तक विपक्षी बल्लेबाजों को अपनी गेदों पर नचाते वाले अनिल कुंबले को भारतीय क्रिकेट टीम का नया कोच बनाया गया है। भारत के सबसे कामयाब और टेस्ट क्रिकेट में सर्वाधिक विकेट लेने वाले तीसरे गेंदबाज अनिल कुंबले के कंधों पर भारतीय क्रिकेट को एक नई दिशा में ले जाने की जिम्मेदारी आ… Read more »

रिंग के सरताज को अलविदा

Posted On & filed under खेल जगत, शख्सियत.

मार्टिन लूथर किंग के 1960 के दशक में देखे गए सपने को साकार करने वाले मोहम्मद अली मौत इस दुनिया से रुखसत हो गए। रिंग में एक से बढ़कर एक मुक्केबाजों को जमीन सूंघा देने वाले अली पार्किसंन नामक बीमारी के सामने चित्त हो गए। पेशाब की नली में संक्रमण की वजह से जनवरी 2015… Read more »

लौट आए चैंपियन

Posted On & filed under खेल जगत, विविधा.

एक ऐसी टीम जिसका विश्व कप से पहले अपने ही बोर्ड के साथ भुगतान विवाद चल रहा था। वो ऐसी टीम जिसे विश्व क्रिकेट के पंडितों ने ज्यादा तवज्जों नहीं दी थी। ऐसी टीम जिसमे केरान पोलार्ड,सुनील नरेन और डेरेन ब्रावो जैसे खिलाड़ी विश्व कप शुरु होने से पहले ही टीम से बाहर हो गए… Read more »

न्यूजीलैंड का नायाब सितारा

Posted On & filed under खेल जगत, विविधा.

17 जनवरी 2002 को सिडनी में जब 20 वर्षीय ब्रैंडन मैक्कुलम ने मैदान में प्रवेश किया तो लोग तालियां बजाकर आने वाले इस सितारे का सम्मान कर रहे थे लेकिन मैक्कुलम अपने पहले मैच में कुछ खास नहीं कर पाए और महज 5 रन बनाकर रन आउट हो गए। इस तरह से मैक्कुलम का डेब्यू… Read more »

भीड़ में छिपा नायक

Posted On & filed under खेल जगत, विविधा.

कोलंबो टेस्ट के साथ ही संगाकारा के 15 साल के स्वर्णिम करियर पर विराम लग गया। यकीनन, संगाकारा आधुनिक क्रिकेट के सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटर्स में से एक है.उनके रिकॉर्ड और उनका सौम्य व्यक्कित्व उन्हें महान खिलाड़ियों की जमात में शामिल करता है। संगाकारा सही अर्थोँ में क्रिकेट के दूत है। कुमार चोकशानडा संगाकारा का जन्म 27… Read more »

लौट आओ तुम

Posted On & filed under चिंतन.

-रवि कुमार छवि- रात के करीब 10 बजे है। रसोई में रखे खाली बर्तन निशब्द थे. पिंकी और सोनू आज जल्दी सो गए थे.रसोई में लगा एक बल्ब पूरे घर को रोशन कर रहा था। आज राधिका की बहुत याद आ रही थी सोचा कि एक खत लिख दूं । सोचा कि दवाई पी लूं… Read more »

रुमाल खो गया

Posted On & filed under कहानी, विविधा.

-रवि कुमार छवि- शनिवार का दिन था। शाम के 5 बज चुके थे। दफ्तर के ज्यादातर कमरे बंद होने शुरु हो गए थे। रवि अपना बचा हुआ निपटाने में लगा हुआ था। इतने में पीछे से आवाज़ आती है अरे दोस्त चलना नहीं है क्या, कुछ देर अपनी उंगुलियों को थामते हुए ने कहा बस… Read more »