लेखक परिचय

शादाब जाफर 'शादाब'

शादाब जाफर 'शादाब'

लेखक स्‍वतंत्र टिप्‍पणीकार हैं।

अमेरिका हमले आतंकवाद मिटाने को करता है या आतंक पैदा करने को…….

Posted On & filed under विश्ववार्ता.

परमाणु हथियारों से लैस उत्तर कोरिया का सनकी तानाशाह किम जोंग लंबे समय से अमेरिका की आंखों में खटक रहा है. उत्तर कोरिया के मिसाइल टेस्ट और रासायनिक हथियारों को लेकर ट्रंप किम जोंग को चेतावनी दे चुके हैं, लेकिन किम जोंग ने दो टूक शब्दों में कहा कि वो अमेरिका से डरने वाला नहीं हैं. सीरिया पर अमेरिकी हमले को लेकर भी उत्तर कोरिया ने ट्रंप पर निशाना साधा था.इस हमले के बाद उत्तर कोरिया से अमेरिका के रिश्ते में भी कोई बड़ा बदलाव देखा जा सकता है.क्यो कि अमेरीका ने जो अफगानिस्तान में बम गिराया है

यूपी में योगी राज से मुस्लिम खुश. ….

Posted On & filed under राजनीति.

.पिछले दिनो योगी जी द़ारा गरीब मुस्लिम लड़कियों की शादी के लिए दिए जाने वाले अनुदान के सही इस्तेमाल के लिए अनूठी योजना बनाई है. सद्भावना मंडप नाम से ये योजना केंद्र सरकार की मदद से यूपी सरकार प्रदेश के हर जिले में अमल में लाएगी. अल्पसंख्यक विभाग की समीक्षा बैठक में योगी आदित्यनाथ ने इस योजना को मंजूरी दी. इसके लिए खाका तैयार किया जा रहा है.



तीन तलाक आखिर क्या है

Posted On & filed under समाज.

अब चौथी बार उनकी आपस में निकाह करने की कोई गुंजाइश नहीं, लेकिन सिर्फ ऐसे कि अपनी आज़ाद मर्ज़ी से वो औरत किसी दूसरे मर्द से शादी करे और इत्तिफाक़ से उनका भी निभा ना हो सके और वो दूसरा शौहर भी उसे तलाक दे दे या मर जाए तो ही वो औरत पहले मर्द से निकाह कर सकती है, इसी को कानून में ”हलाला” कहते हैं। लेकिन याद रहे यह इत्तिफ़ाक से हो तो जायज़ है, जान बूझकर या प्लान बना कर किसी और मर्द से शादी करना और फिर उससे सिर्फ इसलिए तलाक लेना ताकि पहले शौहर से निकाह जायज़ हो सके यह साजिश सरासर नाजायज़ है और अल्लाह के रसूल (सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम) ने ऐसी साजिश करने वालों पर लानत फरमाई है।

अजीज¬ नजीबाबादी अच्छे शायर ही नही एक अच्छे इंसान भी थे।

Posted On & filed under विविधा, शख्सियत.

श्रद्वांजलि……………..उस्ताद अजीज नजीबाबादी को   तंजो मिजाह के उस्ताद शायर जनाब अजीज नजीबाबादी आज हमारे बीच नही रहे। अपनी उम्र के 90वें पडाव में आज भी वो शायरी सेे दीवानगी की हद तक जुडे हुए थे और अपने पॉचवे नातिया मजमुए की तैयारी मैं मसरूफ थे कि अचानक मौत ने अपनी आगौश में उन्हे समा… Read more »

भारत के रत्न डॉ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम

Posted On & filed under जन-जागरण, विविधा, शख्सियत.

विनम्र श्रद्धांजलि!   चमत्कारिक प्रतिभा के धनी डॉ0 अवुल पकिर जैनुलआब्दीन अब्दुल कलाम भारत के ऐसे पहले वैज्ञानिक थें, जो देश के सब से बडे पद राष्ट्रपति (11वें राष्ट्र पति के रूप में) के पद पर भी आसीन हुए। वे देश के ऐसे तीसरे राष्ट्रपति (अन्य दो राष्ट्र पति हैं सर्वपल्लीन राधाकृष्णन और डॉ0 जा़किर… Read more »

अटल पैदा दिलों में प्यार की तासीर करता है…

Posted On & filed under शख्सियत.

25 दिसम्बर अटल जी के जन्मदिन पर विशष आज भारतीय राजनीति में जिस प्रकार की गंदगी फैली हुई है इस से हम सब वाकिफ है किन्तु इसी भारतीय राजनीति में आज भी एक राजनेता ऐसा है जो कीचड में कमल की तरह खिला है राजनीति के इस युग पुरूष को सारी राजनीतिक पार्टिया और राजनेता… Read more »

पत्रकारिता के क्षेत्र में वेब मीडिया की बढती स्वीकार्यता

Posted On & filed under मीडिया.

मैं लगभग 20 सालो से प्रिंट मीडिया से जुडा हॅू अपने शुरूआती लेखक जीवन में, मैं क्षेत्रीय मीडिया से जुडा रहा। फिर कुछ समाचार न्यूज एजेंसियो के द्वारा मेरे लेख राष्ट्रिय समाचार पत्रो में प्रकाशित होने लगे। लगभग 10 सालो से मैं स्वतंत्र पत्रकार के रूप में राष्ट्रिय समाचार पत्रो में स्तम्भकार के रूप में… Read more »

स्वतंत्र अभिव्यक्ति नजीबाबाद द्वारा कवि गोष्ठी व अमीर नहटौरी के गजल संग्रह ’’जागते मंजर’’ का विमोचन समारोह संपन्न….

Posted On & filed under प्रवक्ता न्यूज़.

  मैं कर के याद तुम्हे हिचकिया दिला दूंगा…………………….   नगर नजीबाबाद की सामाजिक व सांस्कृतिक संस्था स्वतंत्र अभिव्यक्ति द्वारा शायर शादाब जफर शादाब के निवास नजमी हाऊस पर बीती शाम बिजनौर से आये मेहमान शायर जनाब अमीर नहटौरी के सम्मान में एक शेरी नशिस्त व उनके गजल संग्रह ’’जागते मंजर’’ का रस्म-ए-इजरा तंजो मिजहा… Read more »

कैसे बचे संसद और विधानसभाओ की गिरती साख ?

Posted On & filed under राजनीति.

शादाब जफर ‘‘शादाब’’ देश में जब से धर्म और जाति की राजनीति शुरू हुई है तब से चुनाव की घोषणा होते ही देश राजनेताओ के लिये सियासी दंगल बन जाता है पर इस बार देश का सियासी दंगल चुनाव की घोषण होते ही धार्मिक दंगो और हिंदू मुसलमान में गहरी खाई बनाने के साथ ही… Read more »

समलैंगिकः कुदरत के अपराधियों को सजा ?

Posted On & filed under समाज.

शादाब जफर’’शादाब’’ भारतीय सुप्रीम कोर्ट ने जो समलैंगिक संबंधों के संदर्भ में अहम फैसला सुनाया है। इस फैसले के अनुसार इस प्रकार के संबंधों को अपराध की श्रेणी में रखा गया है। यदि कोई इस तरह के आरोप में लिप्त पाया जाता है तो उसे उम्र कैद तक की सजा हो सकती है। गौरतलब है… Read more »