लेखक परिचय

बीनू भटनागर

बीनू भटनागर

मनोविज्ञान में एमए की डिग्री हासिल करनेवाली व हिन्दी में रुचि रखने वाली बीनू जी ने रचनात्मक लेखन जीवन में बहुत देर से आरंभ किया, 52 वर्ष की उम्र के बाद कुछ पत्रिकाओं मे जैसे सरिता, गृहलक्ष्मी, जान्हवी और माधुरी सहित कुछ ग़ैर व्यवसायी पत्रिकाओं मे कई कवितायें और लेख प्रकाशित हो चुके हैं। लेखों के विषय सामाजिक, सांसकृतिक, मनोवैज्ञानिक, सामयिक, साहित्यिक धार्मिक, अंधविश्वास और आध्यात्मिकता से जुडे हैं।

Posted On by &filed under खान-पान.


anwale ka acharसामग्री-

आँवले    500 ग्राम, सरसों का तेल 200 मि. लि.,सिरका  100 मि. लि.,सोंफ   50 ग्राम,   नमक   4 चम्मच हल्दी 2 चम्मच, लाल मिर्च 50 ग्राम  ,राई  50 ग्राम।

विधि-

आँवले धोकर काट ले, गुठली निकाल कर फेंक दें।आँवलों को ऐसे बर्तन मे रक्खे जो प्रैशर कुकर मे आ जाय। कुकर मे थोड़ा पानी डालकर बिना वेट लागाये भाप निकलने के बाद 5 मिट तक आँच पर रहने दें।अब आँवले एक सूखे सूती कपड़े पर फैला दें।  2 घन्टे बाद सब मसाले पीसकर सिरका डाल दें, इसमे आँवले मिला कर बरनी मे दबा दबा कर भरदे। अगले दिन तेल डाल दें।  2 से  3 सप्ताह मे यह  अचार तैयार हो जता है।

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz