लेखक परिचय

डा. राधेश्याम द्विवेदी

डा. राधेश्याम द्विवेदी

Library & Information Officer A.S.I. Agra

Posted On by &filed under विविधा, शख्सियत.


jagdambika
डा. राधेश्याम द्विवेदी
भारतीय राजनीतिज्ञ श्री जगदंबिका पाल का जन्म 21 अक्टूबर 1950 को हुआ था। उन्हें ‘वन डे वंडर ऑफ इंडियन पॉलिटिक्स’ कहा जाता है।पिता का नाम स्वर्गीय श्री सूर्या बख्श पाल और माता की नाम स्वर्गीय श्रीमती मूल राजी देवी था। जन्म स्थान Rameshwerpuri जिला बस्ती (उत्तर प्रदेश) है। 15 वीं लोकसभा में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के एक नेता रहे हैं। भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस से वह 7 मार्च 2014 को इस्तीफा दे दिया। 16 वीं लोकसभा में शामिल हो डुमरियागंज से बीजेपी सांसद बने।
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री:- जब उत्तर प्रदेश राज्य सरकार के नेतृत्व में कल्याण सिंह ने 21 फरवरी 1998 को खारिज कर दिया था कि उत्तर प्रदेश के राज्यपाल रोमेश भंडारी उन्हें मुख्यमंत्री चुने। इलाहाबाद उच्च न्यायालय सरकार को असंवैधानिक करार कर 23 फरवरी 1998 को बर्खास्त दिया जिससे कल्याण सिंह सरकार बहाली। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के 3 दिन के लिए 21 फरवरी 1998 से 23 फरवरी 1998 रहे हैं। 21-22 फरवरी 1998 को दल-बदल की वजह से बहुमत साबित करने के दौरान यूपी विधानसभा में जमकर मारपीट हुई। इसे देखते हुए तत्कालीन गवर्नर रोमेश भंडारी ने केंद्र से यूपी में राष्ट्रपति शासन लगाने की सिफारिश कर दी। लेकिन, केंद्र ने इससे इंकार कर दिया। इससे उत्साहित होकर कल्याण सिंह ने बाहर से आए विधायकों को मंत्री बना कर देश के इतिहास में यूपी का सबसे बड़ा मंत्रिमंडल बना दिया। इसमें 93 मंत्री रखे गए। वहीं, इससे नाराज दूसरे राजनीतिक दलों ने कल्याण सरकार का तख्ता पलट करने की योजना बना ली।रातों-रात बने सीएम कल्याण सिंह को उस समय झटका लगा जब बसपा से आए विधायकों के सपोर्ट को गवर्नर रोमेश भंडारी ने मान्यता देने से इंकार कर दिया। इसके बाद उन्होंने रातों-रात कल्याण सिंह सरकार को बर्खास्त कर दिया। इतना ही नहीं उन्होंने जगदंबिका पाल को सीएम पद की शपथ दिलवा दी।13वीं विधानसभा की यह घटना इतिहास के पन्नों में काले हर्फों में दर्ज है। जगदंबिका पाल एक दिन के लिए यूपी के सीएम बने थे।
वह राजनीति के मजे हुए खिलाड़ी माने जाते हैं। बाद में, जगदंबिका पाल कांग्रेस के उत्तर प्रदेश राज्य इकाई के अध्यक्ष बन गए। 2009 में उन्हें 15 वीं लोकसभा से डुमरियागंज लोक सभा निर्वाचन क्षेत्र के लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र में सिद्धार्थनगर जिले उत्तर प्रदेश के लिए चुना गया । पर 3 जुलाई 2011, जगदंबिका पाल और अन्य सदस्यों की लोकसभा , निचले सदन की भारत की संसद ,लंबे समय तक कांग्रेस में रहने के बाद साल 2014 में उन्होंने बीजेपी का दामन थाम लिया और सांसद चुने गए।
कांग्रेस सांसद और उत्तर प्रदेश के पूर्व इकाई के अध्यक्ष जगदंबिका पाल डुमरियागंज लोक सभा निर्वाचन क्षेत्र से इस्तीफा दे दिया था।
पदों पर कार्य
1.जगदंबिका पाल 1982-93 सदस्य, उत्तर प्रदेश विधान परिषद (दो बार),
2.1988-1999 में उत्तर प्रदेश के राज्य सरकार के मंत्री।
3.1993-2007 के सदस्य, उत्तर प्रदेश विधान सभा (तीन बार)
4. 2002 कैबिनेट मंत्री, भारत सरकार।
5.उत्तर प्रदेश के, 2009 में 15 वीं लोकसभा (आईएनसी) के सदस्य के लिए चुने गए,
6.ऊर्जा संबंधी समिति; सदस्य,
7.याचिका समिति; सदस्य,
8.समिति संसद सदस्य स्थानीय क्षेत्र विकास योजना के सदस्य (एमपीएलएडीएस) पर;सदस्य,
9. रसायन और उर्वरक संबंधी समिति; सदस्य,
10. सलाहकार समिति, आवास मंत्रालय और शहरी गरीबी उन्मूलन और पर्यटन मंत्रालय,
11. 2014 में 15 वीं लोकसभा और भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा दे 2014 में 16 वीं लोक सभा के लिए निर्वाचित (भाजपा)
2016 में मोदी सरकार 26 मई को अपने दो साल पूरे कर रही है। इस दौरान वह जनता के बीच अपने रिपोर्ट कार्ड को सौंपेगी। डुमरियागंज सांसद जगदंबिका पाल ने भी अपना रिपोर्ट कार्ड तैयार कर लिया है।पाल ने एक पंप्लेट के जरिए अपने द्वारा कराए गए विकास कार्यों का बखान किया। इस पंप्लेट में पाल ने जनपद को सबसे बड़ी उपलब्धि के रूप में गोरखपुर, गोंडा लूप लाइन को बड़ी लाइन में तब्दील कराना माना है। इसके अलावा बस्ती-कपिलवस्तु नई रेल लाइन की मंजूरी, बढ़नी से काठमांडो, नेपाल रेल लाइन के सर्वे की मंजूरी, ककरहवा में कस्टम कार्यालय खोलने सहित कई कामों को गिनाया। अपनी उपलब्धियों के अलावा उन्होंने सरकार की उपलब्धियों का भी प्रचार-प्रसार किया। इनमें प्रधानमंत्री जन-धन योजना, डिजिटल इंडिया समेत कई महत्वकांछी योजना शामिल है।
डुमरियागंज के सांसद जगदंबिका पाल ने बांसी में महिलाओं को फ्री गैस कनेक्शन बांटा। इस दौरान बीजेपी जिलाध्यक्ष रामकुमार कुंवर, नेता लाल जी त्रिपाठी समेत कई लोग उपस्थित रहे। पीएम नरेंद्र मोदी की ओर से शुरू की गई उज्ज्वला योजना के तहत पाल ने इस गैस कनेक्शन का वितरण किया। इसके तहत लोगों को फ्री में गैस चूल्हा और सिलेंडर दिया जाता है। वितरण के दौरान पाल ने कहा कि मोदी सरकार का मकसद है कि कोई भी भूखा मत सोए। इसलिए हम लगातार प्रयास कर रहे हैं कि लोगों को सारी मूलभूत सुविधाएं मुहैया कराई जाए।
Dr.Radhey Shyam Dwivedi

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz