केजरीवाल महोदय के निःशुल्क बिजली-पानी का गणित

Posted On by & filed under घोषणा-पत्र

  इस लेख में कुछ सरल गणित की सहायता से केजरीवाल महोदय के द्वारा देहली में निःशुल्क या अल्पमूल्य पर बिजली-पानी दिए जाने के आश्वासन का विश्लेषण किया जा रहा है ।   औसत-आधारित दृष्टिकोण मान लीजिए, केजरीवाल जी के आश्वासन के अनुसार देहली के प्रत्येक घर में औसतन २००० रूपये मासिक व्यय न्यून हो… Read more »

मेक इन इण्डिया व स्किल्ड इंडिया की परिकल्पना

Posted On by & filed under आंकडे, आर्थिकी, आलोचना, घोषणा-पत्र, चिंतन, चुनाव, चुनाव विश्‍लेषण, जन-जागरण, जरूर पढ़ें, टॉप स्टोरी, परिचर्चा, महत्वपूर्ण लेख, लेख, विविधा, सार्थक पहल

‘मेक इन’ व ‘स्किल्ड इंडिया’ की परिकल्पना साकार करेगा छत्तीसगढ़ का बजट– छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह ने 13 मार्च 2015 को विधानसभा में वित्तीय वर्ष 2015-16 के लिए बजट पेश किया। बजट में पूंजीगत व्यय में 39 प्रतिशत वृद्धि की गई है। बजट में युवा, अधोसंरचना विकास एवं औद्योगिक विकास को प्राथमिकता दी… Read more »

दिल्‍ली को अब मोदी के बड़े दिल की जरूरत

Posted On by & filed under घोषणा-पत्र

केजरीवाल के नेतृत्‍व मे दिल्‍ली मे आम आदमी पार्टी की सरकार ने आकार ले लिया है । जिस तरह देश ने नरेन्‍द्र मोदी के वादों पर भरोसा कर के उन्‍हें केन्‍द्र की सत्‍ता सौपी थी उसी तरह दिल्‍ली की जनता ने केजरीवाल के लोकलुभावन घोषणा पत्र पर यकीन कर के आप को भारत के लोकतांत्रिक… Read more »

देश की आतंरिक सुरक्षा की शायद कोई बहुत अहमियत नहीं है इस सरकार के एजेण्डे में भी ??

Posted On by & filed under घोषणा-पत्र

  आतंकी  हमलों , आतंकियों द्वारा अंजाम दिए जा रहे बम धमाकों , उत्तर-पूर्व राज्यों के  उग्रवाद , नकसलवाद से निपटने के लिए देश कितना सक्षम है ? यह आज भी एक बहुत बड़ा सवाल है। हालिया बेंगलूरू धमाके की ही बात की जाए तो गौरतलब है कि ख़ुफ़िया एजेंसियों ने पहले ही बेंगलूरू व… Read more »

मिड डे मील- ना दया, ना हया

Posted On by & filed under घोषणा-पत्र

बिहार के छपरा जिले के एक स्कूल में मिड डे मील को लेकर 23 नन्हें मुन्ने नौनिहालों की जीवन लीला समाप्त हो गयी। भ्रष्टाचार का काला कलयुग है ये। इसमें सच में झूठ नही अपितु ‘झूठ में सच’ तलाशना पड़ता है, फिर भी यदि कुछ मिल जाए तो अपना सौभाग्य माना जाता है। भ्रष्टाचार लगभग… Read more »

वास्तविक समस्याओं से दूर चुनावी घोषणा पत्र

Posted On by & filed under घोषणा-पत्र, चुनाव

 विशाल शर्मा ‘‘उत्तर प्रदेश जहाँ चुनाव की सरगर्मियां जोरो पर है। हर राजनीतिक पार्टी वादो की भरमार कर रही है। अपने अपने चुनावी घोषणा पत्रों को और लुभावना बनाने के लिए आतुर है लेकिन ये घोषणा पत्र आम जन मानस की वास्तिवक समस्याओं से कहीं दूर प्रतीत होते है। ‘‘ समय गतिशील है। उसकी गतिशीलता… Read more »

प्रधानमन्त्री डॉ. मनमोहन सिंह के नाम भ्रष्टाचार एवं अत्याचार अन्वेषण संस्थान (बास) के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. पुरुषोत्तम मीणा का खुला खत!

Posted On by & filed under आलोचना, घोषणा-पत्र

पत्रांक : बास/राअ/1112/1 दिनांक : 11.03.2011   प्रेषक : डॉ. पुरुषोत्तम मीणा, राष्ट्रीय अध्य्यक्ष-भ्रष्टाचार एवं अत्याचार अन्वेषण संस्थान (बास), राष्ट्रीय अध्यक्ष का कार्यालय-7 तँवर कॉलोनी, खातीपुरा रोड, जयपुर-302006 (राजस्थान), फोन : 0141-2222225, मोबाइल : 098285-02666     प्रेषिति : माननीय श्री डॉ. मनमोहन सिंह जी, प्रधानमन्त्री, भारत सरकार, नयी दिल्ली|   विषय : राजस्थान के… Read more »

भाजपा घोषणापत्र (लोकसभा चुनाव 2009) का पूरा पाठ

Posted On by & filed under घोषणा-पत्र

विश्व की प्राचीनतम और जीवंत सभ्यताओं में भारतीय सभ्यता का स्थान अप्रतिम है। भारत का न सिर्फ एक महान अतीत और अत्यन्त प्राचीन इतिहास है, वरन् लोग मानते हैं कि यह एक विराट सम्पदा…