लेखक परिचय

प्रवक्‍ता ब्यूरो

प्रवक्‍ता ब्यूरो

Posted On by &filed under विधि-कानून.


कई टिप्‍पणीकारों के आग्रह के पश्‍चात् हम प्रवक्‍ता पर ‘सांप्रदायिक एवं लक्षित हिंसा निवारण विधेयक 2011’ का पूरा पाठ प्रकाशित कर रहे हैं। यह पाठ अंग्रेजी में है क्‍योंकि राष्‍ट्रीय सलाकार परिषद् की वेबसाइट पर अभी इसका हिंदी पाठ प्रस्‍तुत नहीं किया गया है। 

कृपया  ‘सांप्रदायिक एवं लक्षित हिंसा निवारण विधेयक 2011’ का पूरा पाठ पढ़ने के लिए निम्‍नलिखित लिंक पर क्लिक करें। 

Leave a Reply

7 Comments on "‎’सांप्रदायिक एवं लक्षित हिंसा निवारण विधेयक-२०११ का पूरा पाठ"

Notify of
avatar
Sort by:   newest | oldest | most voted
Ajeet Singh
Guest

सांप्रदायिक एवं लक्षित हिंसा निवारण विधेयक २०११ का हिन्दी अनुवाद उपलब्ध करावे

-डॉ. पुरुषोत्तम मीणा 'निरंकुश'
Guest
मेरी पिछली टिप्पणी में भूलवश अशुद्धि रह गयी, इससे श्री गुप्ता जी या अन्य किसी भी पाठक को हुए दुःख का मुझे खेद है! सही टिप्पणी इस प्रकार है :- श्री अनिल गुप्ता जी ने लिखा है जिन प्रावधानों का उल्लेख किया है वे मूल निम्न प्रकार हैं :- “2. नौसेना, सेना और वायुसेना; संघ के अन्य सशस्त्र बल। (2क. संघ के किसी सशस्त्र बल या संघ के नियंत्रण के अधीन किसी अन्य बल का या उसकी किसी टुकड़ी या यूनिट का किसी राज्य में सिविल शक्ति की सहायता में अभिनियोजन; ऐसे अभिनियोजन के समय ऐसे बलों के सदस्यों की… Read more »
-डॉ. पुरुषोत्तम मीणा 'निरंकुश'
Guest
श्री अनिल गुप्ता जी ने लिखा है कि “इस विधेयक के साथ जारी नोट में ये बताया गया है की केंद्र सरकार को स कानून को बनाने का अधिकार संविधान की अनुसूची सात की प्रथम सूची के क्रमांक २-ए एवं ९७ के अधीन प्राप्त है. ” सम्भव है कि लिखते समय श्री गुप्ता जी से थोड़ी चूक हुई है| संविधान में देखने पर ज्ञात होता है कि “अनुसूची सात की प्रथम सूची के क्रमांक २-ए” का कोई अस्तित्व ही नहीं है! जो है वो संविधान की अनुसूची सात की प्रथम सूची के क्रमांक 2 (1) (2-क) एवं 97 हैं! जो… Read more »
Anil Gupta
Guest
इस विधेयक के साथ जारी नोट में ये बताया गया है की केंद्र सरकार को स कानून को बनाने का अधिकार संविधान की अनुसूची सात की प्रथम सूची के क्रमांक २-ए एवं ९७ के अधीन प्राप्त है. मेरे विचार में ये बिलकुल झूठ है. क्योंकि क्रमांक २-ए में केवल राज्यों में केंद्रीय सुरक्षा बालों की तैनाती का विषय है और ९७ में वो विषय हैं जो किसी अन्य सूची में ( अर्थात सूची दो व तीन) नहीं दिए गए हैं. अब राज्यों में पब्लिक ऑर्डर को बनाये रखने का विषय सूची दी(राज्य विषय) में दिया गया है. कोई भी ये… Read more »
Anil Gupta
Guest

आदरणीय महोदय, मैंने अभी आपकी इ-मेल में ड्राफ्ट बिल व उसके उद्देश्य अदि का हिंदी भाष्य भेजा है कृपया सुधि पाठकों के लाभार्थ उसे भी प्रकाशित करने का कष्ट करें. धन्यवाद.

wpDiscuz