लेखक परिचय

टी के मारवाह

टी के मारवाह

स्वतंत्र वेब लेखक व ब्लॉगर

Posted On by &filed under व्यंग्य.


टी.के.मरवाह

यूँ तो तकरीबन सवा अरब की आबादी वाले दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र जिसे हिन्दोस्थान कहा जाता हे यहाँ हर दिन किसी न किसी बात पर कहीं न कहीं बुधिजीविओं के रूप मैं रोजाना चीखना चिल्लाना हम ये कर देंगे ,हम वो कर देंगे हम अपना अधिकार ले कर रहेंगे ,तानाशाही नहीं चलेगी वगेरह वगेरह ,पर होता कुछ नहीं हे? होगा भी क्यूँ ? अब आज ही देखिये देश को संकट मैं देख हमारे देश के एक चर्चित नौजवान ने अपनी जवानी की बलि देकर देश के लिए बड़े रूप मैं कोई बड़ी जिम्मेदारी उठाने का पक्का मन बना लिया हे ,कहा जा रहा हे इसके लिए सभी कांग्रेसियों का कांग्रेस अध्यक्षा श्रीमती सोनिया गाँधी पर बेहद दबाब था की प्रणव दा के कुर्सी खाली कर देने से जो सरकार मैं शुन्यता आ गयी हे ”उसे कोन पूरा करेगा ”?(हालाँकि कांग्रेस के पास बेपेंदी के रूप मैं एक्स्ट्रा प्लेयर दिग्गी मोजूद थे ) पर श्रीमती अध्यक्षा महोदय पिछले कई दिनों से अत्यंत विचलित अवस्था मैं थीं ,की जिस नोनिहाल ने यु पी ,बिहार मैं कांग्रेस को फटेहाल कर डाला अब उसे कोन सी बड़ी जिम्मेवारी दी जाय की वो आगामी चुनाव २०१४ के पहले कांग्रेस का पूरा सुपदा ही साफ़ करवा दे ताकि आराम से माँ बेटा चैन से अपने मुलुक लोट सके और वर्षों से समेटी अथाह दोलत का खुले आम इस्तेमाल कर जिन्दगी का आनंद समेटें (हालाँकि इस लेखक को विश्वास हे ऐसा कुछ नहीं होगा ,सिर्फ राजनीति एक ऐसा खेल हे जहाँ जूते मार कर भी भगा दिए जाने के बाद राजनीतिज्ञ ढीट बना हालात को निहारता रहता हे कि

न जाने कब कोन फिसले और मैं उसकी जगह पा जाऊं ,विश्वास न हो तो कलमाड़ी /लालू /नारायण दत्त आदि कई फुके हुए रस्सी बम कांग्रेस मैं दरियां उठाते देखे जा सकते हैं ,खेर हम बात कर रहे थे देश के उस बहुचर्चित कुंवारे वलीअहद राहुल कि जिसने अपनी माँ के कहने भर से अपने जीवन को तुरंत दाव पर लगा कर देश मैं बहुत बड़ी जिम्मेवारी उठाने को हाँ कर इस देश को बचा लिया …आज पुरे देश का मीडिया सुबह से पों पों पों कर रहा हे एक चेनल तो कह रहा हे कि आज शाम छेह बजे वो खुलासा करेगा कि राहुल जी कोन सी बड़ी जिम्मेवारी उठाने जा रहे हैं ?मेरे ख्याल से हमारे देश मैं बड़ी जिम्मेवारी तो वित्त जी हैं ,और हाँ जी, तू जी ,मैं जी या २जी ,३ जी ,४ जी यही हैं अब मायीक्रोवेब टावर पर बैठकर राहुल जी देश के लिए बड़ा काम करें तो इससे बड़ा पुण्य का कोई काम ही नहीं हे ,असफल होने कि स्थिति मैं (जो कि देश के धुरंदर बुकियों कि नज़र मैं १००% हे ) कमसे कम छोरा टावर से हेलीकाप्टर पकड़ कर तो कोलंबिया निकल सकेगा ( पता नहीं क्या बात हे राहुल अपना काम बता कर जैसा कि अभी यु पी के चुनाव के बाद भी हुआ फ़ौरन कोलंबिया निकल जाता हे ?)

तो फिर तैयार रहिये देश वासिओ एक और बड़ी जिम्मेदारी झेलने के लिए राहुल का आपकी छाती पर खेलने के लिए और बचा खुचा देश का बंटाधार हो जाने के लिए …जय हिंद

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz