लेखक परिचय

प्रवक्‍ता ब्यूरो

प्रवक्‍ता ब्यूरो

Posted On by &filed under राजनीति.


भोपाल, 10 नवंबर(हिस)। हिन्दू विरोधी दुष्प्रचार के विरोध में राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ द्वारा आज देशव्यापी धरना प्रदर्शन किया गया। जिसके तहत भोपाल सहित राज्य के विभिन्न जिलों में संघ ने धरना दिया। भोपाल में स्वयंसवकों ने लिली टाकीज चौराहे पर धरना दिया। जिसका नेतृत्व संघ के पूर्व सरसंघ चालक केसी सुदर्शन ने किया। इस मौके पर संघ के पदाधिकारी सहित प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री सुंदरलाल पटवा, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष प्रभात झा, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह की पत्नी और भाजपा महिला मोर्चा की प्रदेश उपाध्यक्ष साधना सिंह, महापौर कृष्णा गौर, वरिष्ठ भाजपा नेता विक्रम वर्मा, कैलाश नारायण सारंग, अनिल माधव दवे सहित बडी संध्या में स्वयंसेवक एवं अन्य हिन्दू संस्थाओं के लोग मौजूद रहे। धरना में मुस्लिम महिला तथा पुरुष स्वयंसेवकों ने भी भाग लिया।
 
धरने की शुरुआत संघ के पूर्व सरसंघ चालक केसी सुदर्शन ने भारत माता के चित्र में माल्यापर्ण और दीप प्रज्जलित कर की। धरने के दौरान मंच में प्रांत संघ चालक शशिभाई सेठ, विभाग संघ प्रमुख कांतिलाल चतर, प्रांत कार्यवाहक अशोक अग्रवाल मंच में श्री सुदर्शन के साथ बैठे थे। धरने में शामिल स्वयंसेवकों ने यूपीए सरकार द्वारा संघ के सदस्यों को आतंकवादी कहे जाने के विरोध में जमकर नारेबादी की। प्रांत प्रचार प्रमुख नरेन्द्र जैन ने संघ द्वारा देशव्यापी धरने के कारणों को स्पष्ट करते हुए कहा कि आज संघ जैसे राष्ट्रभक्त संगठन पर केन्द्र की यूपीए सरकार अर्नगल और बेबुनियाद आरोप लगा रही है। संघ ने केन्द्र पर आरोप लगाते हुए कहा कि संसद पर हमले के आरोपी अफजल गुरू को सात साल बाद भी फांसी की सजा से दण्डित नहीं किया गया, जिससे आतंकवादी बेखौफ हो रहे हैं नतीजतन आतंकवाद और अधिक पनप रहा है। संघ का यह भी आरोप है कि अरुंधती राय और अली शाह गिलानी जैसे लोग देश की अखण्डता और सार्वभौमिता को चुनौती देते हैं तब भी उनके विरुद्ध कोई कार्रवाई नहीं की जाती है। संघ का कहना है कि अजमेर ब्लास्ट मामले में चार्जशीट दाखिल की गई और बिना किसी सबूत के संघ के अखिल भारतीय कार्यकारिणी सदस्य इन्दे्रश कुमार का नाम घसीटा जा रहा है।
 
धरने में गौरक्षा संवर्धन के अध्यक्ष मेघराज जैन, श्रीपति खिरवडकर, शशिकांत फरके, प्रदेश सहसंगठन महामंत्री भगवत शरण माथुर, भतर चतुर्वेदी, बीएल तिवारी, सरिता देशपाण्डे, ऊषा चतुर्वेदी, आलोक संजर, विश्वास सारंग, जितोन्द्र डागा, रमेश शर्मा, तपन भौमिक, शिव अनुराग पटैरिया, भाजपा जिला अध्यक्ष आलोक शर्मा सहित हजारों की संध्या में महिला मोर्चा एवं राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ के कार्यकतार उपस्थित रहे।
 
 
सोनिया ने रची इंदिरा के हत्या की साजिश : सुदर्शन
 
राष्ट्रीय स्वयंसेवक द्वारा देशव्यापी धरना प्रदर्शन के दौरान आरएसएस के पूर्व सरसंघ चालक केएस सुदर्शन ने पत्रकारों से चर्चा में कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने ही पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी और राजीव गांधी की हत्या की साजिश रची थी। सुदर्शन ने कहा कि सोनिया गांधी अपनी मां की अवैध संतान हैं। उन्होंने कहा कि सोनिया गांधी सीआईए की एजेंट हैं।

इंदौर साजिशों के विरोध में संघ ने दिया धरना
 
इंदौर में स्वयंसेवकों ने सुबह 9 बजे यशवंत निवास रोड पर धरना दिया जो दो घंटे तक जारी रहा। धरने में संघ के हजारो कार्यकताओ सहित मुस्लिम और सिख समाज के लोग भी शामिल हुए। विशेष त्षौर पर मुस्लिम महिलाएं बडी संध्या में धरने में भाग लिया।
 
संघ के प्रान्त संघ चालक कृष्ण कुमार अष्ठाना ने धरने को संभोधित करत्ो हुए कहा कि हमें अपराधी समझा जा रहा है ये कोई तरीका नहीं है। जो अपराधी सिद्ध हुए है उन्हें तो सरकार दंड नहीं दे पा रही है और जिनके खिलाफ न कोई आपराधिक प्रकरण है और न ही कोई चार्जशीट नहीं बनी, उन्हें अपराधी माना जा रहा है। इस तरह के बेबुनियाद आरोपों से मजबूर होकर आज संघ मैदान में उतारकर धरना दे रहा है। उन्होंने कहा कि किसी डायरी में नाम मिल जाने मात्र से कोई अपराधी नहीं हो जाता, ये एक षडयंत्र है। जिसके विरोध में संघ पूरे देश भर में धरना दे रहा है। हम अभी तक चुप थे, लेकिन अब संघ को बदनाम करने वालो को मुह तोड जवाब दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि संघ को बुरा भला कहने वाले पहले खुद को आईने में देखें।
 
धरने में भाजपा के नगर अध्यक्ष शंकर लालवानी , मानती केलाश विजयवर्गीय , विधायक सुदर्शन गुप्ता , मालिनी गोड , संघ के प्रान्त प्रचारक पराग अभ्यंकर, विभाग संघ चालक लक्ष्मण नवाथे , विनोद बिडला सहित लगभग 25 हजार से ज्यादा संघ कार्यकतार धरने में शामिल हुए। 

 
होशंगाबाद भगवा रंग को संदिग्ध बनाने का षडयंत्र गिरि
 
राष्ट्रीय स्वयंसेवक सघं हमेशा से ही कट्टरपंथियों, विघटनकारी ताकतों, अलगाववाद एवं आतंकवाद का पुरजोर विरोधी रहा है। किन्तु देशभक्तों के इस संगठन की सराहना की बजाय कुछेक ताकतों भगवान रंग को संदिग्ध बनाने का षडयंत्र रच रही हैं। यह देश के लिये नुकसान दायक है। यह बात स्थानीय सतर पर महामण्डलेश्वर माधवानंदजी गिरी ने धरने में कही।
 
इस अवसर पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के विभिन्न सहयोगी संगठनों के प्रभारी और नागरिकों की उपस्थिति में हिन्दू विरोधी दुष्प्रचार की राजनीति का विरोध किया। नीरज बरगले ने हिन्दू धर्म और संघ की भूमिका का वास्तविक प्रस्तुत करते हुये संघ के 85 वर्षो से भारत की सेवा पर प्रकाश डालते हुआ कहा कि कुछ वर्षो से देश में चंद विघटनकारी तत्वों द्वारा जानबूझकर हिन्दू धर्म, संत महात्माओं एवं हिन्दूओं द्वारा पूज्यनीय देवालयों पर हमला करके उनकी विश्वसनीयता तथा आस्था को ठेस पहुॅचाने की कोशिशें की जा रही है।
 
भरतसिंह राजपूत ने कहा कि वोट बैठक के लालच में केन्द्र सरकार विभिन्न शासकीय एजेन्सियों का दुरूप्योग कर रही है और संघ जैसे राष्ट्रवादी संगठन को कटघरे में खडा कर रही है, यह घोर आपत्तिजनक है।सेवानिवृत्त प्राचार्य डॉ. एल.एल शर्मा ने संघ के कायोर की सराहना करते हुये कहा कि राष्ट्रीय समस्याओं का समाधान केवल शिक्षा के विकास और निरन्तरता से ही संभव है।
 
कार्यक्रम की शुरूआत महामण्डलेश्वर माधवानंद गिरी द्वारा भारत माता के चित्र पर माल्यापर्ण कर दीप प्रज्जवलन के साथ हुई। कार्यक्रम का समापन वंदेमातरम से हुआ। संघ द्वारा इसके पश्चात 23 बिन्दुओं का एक लिखित विरोधपत्र जिला प्रशासन को सौंपा। 
 
जबलपुर : राष्ट्रभाक्तों का अपमान देश द्रोहियों के सम्मान राजकुमार
 
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ द्वारा महाकौशल क्षेत्र में कांग्रेस नीत केंद्र सरकार तथा उसकी अन्य एजेंसियों द्वारा हिंदुत्व विरोधी दुष्प्रचार की राजनीति के विरोध में आज यहां विशाल धरना प्रदर्शन किया गया जिसमे हजारों स्वयंसेवकों ने भाग लिया। दो से चार बजे तक चले इस धरना प्रदर्शन में सभी वर्ग के लोगों ने हिस्सा लिया। महाकौशल क्षेत्र के संघ प्रचारक राजकुमार मातोले तथा प्रान्ता प्रचारक मधुकर राव हवेल ने धरने का नेतृत्व किया।
 
राजकुमार मातोले ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा राष्ट्रभाक्तों का अपमान तथा देश द्रोहियों का सम्मान किया जा रहा है। केंद्र सरकार की इन नीतियों के विरोध में यह धरना सरकार की इस तरह की गलत नीतियों के खिलाफ जनता को जाग्रत होने करने का प्रयास है। उन्होंने बताया कि किस तरह केंद्र सरकार तथा कांग्रेस के समर्थक दल हिंदुत्व के दुष्प्रचार की राजनीति कर रहे है। श्री हलवे ने कहा की केंद्र में कांग्रेस की सरकारों ने तीन बार संघ पर प्रतिबंध थोपा, लेकिन संघ के कार्यकतार इससे नहीं डिगा तथा आज संघठन और मजबूत होकर उभरा है यह जनता का सहयोग तथा समर्थन से ही हुआ है उन्होंने कहा की संघ की सोच तथा उद्देश्य समाज सेवा की है जिसमे वह सफल है तथा वतर्मान में संघ द्वारा एक लाख 58 हजार से ज्यादा समाज सेवा के प्रकल्प चलाए जा रहे है। जिनसे जनता को सीधा फायदा हो रहा है। राजकुमार मातोले ने भी संघ के कायोर तथा केंद्र की हिंदुत्व विरोधी नीति के खिलाफ जनता से आगे आने का आह्वान किया। कार्यक्रम का संचालन डॉ. जामदार ने किया जिसके उपरांत संघ के पदाधिकारियों ने हिंदुत्व विरोधी राजनीति के खिलाफ एक ज्ञापन अतिरिक्त कलेक्टर वसंत कुर्रे को सौंपा।

ग्वालियर संघ ने दिया धरना
 
मप्र के ग्वालियर में महाराज बाडे पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने केन्द्र सरकार द्वारा भगवा आतंकवाद नाम ने विरोध में धरना दिया। धरने में राष्ट्रीय स्वयंसेवक के क्षेत्र संघचालक कृष्ण महेश्वरी ने कहा कि कुछ वर्षो से लगातार कुछ राजनीतिक दल पंथ निरपेक्षता की गलत व्याख्या कर हिंदू संतों के संगठनों और हिन्दू समाज की छवि खराब करने का षडयंत्र कर रहे है। केन्द’ सरकार की मौजूदगी में कुछ मंत्रियों द्वारा भगवा हिंदू आतंकवाद, हिंदू संगठनों साधू संतों व मंदिरों को लांछित करने का प्रयास किया जा रहा है। संघ राजनीतिक षडयंत्र के सामने झुकने वाला नहीं। 
 
भिण्ड राजनैतिक षडयंत्रों के सामने नहीं झुकेगा संघ
 
राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ किसी भी प्रकार की हिंसात्मक गतिविधियों में विश्वास नहीं रखता, वह संविधान के प्रति प्रतिद्ध एवं कानून व्यवस्था पर विश्वास रखने वाला संगठन है, लेकिन विद्वेषकारी कुटिल राजनैतिक षडयंत्रों के सामने झुकने वाला भी नहीं है। यह विचार भिण्ड नगर में खण्डा रोड पर हिन्दू विरोधी दुष्प्रचार की राजनीति के विरोध में आयोजित विशाल धरने में मु’य वक्ता के रूप में बोलते हुए डॉ. शिव बहुआ ने व्यक्त किए। इस अवसर पर जिला संघ चालक द्वारिका प्रसाद गुप्ता, नगर संघ चालक प्रेमदास बाथम, समरसता मंच के संयोजक कृष्ण बिहारी लाल श्रीवास्तव मंचासीन थे।
 
डॉ. बरुआ ने कहा कि राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ विगत 85 वर्षों से एक संगठित सशक्त भारत तथा अनुशासन वद्ध एवं देशभक्त समाज के निर्माण में लगा है। संघ किसी भी प्रकार की हिंसात्मक गतिविधियों में विश्वास नहीं रखता और नही ऐसे आरोप पर प्रतिबंध लगाया गया। प्रथम बार 1948 में गांधी जी की हत्या का आरोप लगाया, दूसरी बार 1975 में इन्दिरा गांधी सरकार द्वारा जानबूझकर अपनी सरकार बचाने हेतु देश पर आपातकाल लगाकर संघ पर प्रतिबंध लगाया, तीसरी मरतबा प्रतिबंध राम जन्मभूमि विवादित ढांचा ढहाए जाने पर लगाया, किंतु एक भी आरोप साबित न होने पर सभी प्रतिबंध हटाए गए, इस प्रकार आज राष्ट्र व हिन्दुत्व को तोडने वाली शक्तियां खिसयानी बिल्ली की तरह संघ पर आरोप लगा रही हैं। जिनका संघ विरोध करता है।
 
अंत में प्रधानमंत्री भारत सरकार के नाम विरोध पत्र का वाचन जिला संघ चालक द्वारिका प्रसाद गुप्ता ने किया, उपस्थित जनसमुदाय का आभार प्रेमदास बाथम नगर संघ चालक ने किया। मंच का संचालन जगदीश दीक्षित एडवोकेट नगर कार्यवाह ने किया।
 

Leave a Reply

7 Comments on "हिन्दू विरोधी दुष्प्रचार बर्दाश्त नहीं संघ"

Notify of
avatar
Sort by:   newest | oldest | most voted
डॉ. राजेश कपूर
Guest
”राष्ट्रीय स्वयंसेवक द्वारा देशव्यापी धरना प्रदर्शन के दौरान आरएसएस के पूर्व सरसंघ चालक केएस सुदर्शन ने पत्रकारों से चर्चा में कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने ही पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी और राजीव गांधी की हत्या की साजिश रची थी। सुदर्शन ने कहा कि सोनिया गांधी अपनी मां की अवैध संतान हैं। उन्होंने कहा कि सोनिया गांधी सीआईए की एजेंट हैं।” उपरोक्त कथनों के समर्थन में एक विस्तृत लेख की आवश्यकता है. सुदर्शन जी के इन कथनों का विरोध किये जाने से इस मुद्दे को आगे बढाने का सुअवसर आलोचकों ने दिया है. आशा है की एक सुप्रसिद्ध विद्वान… Read more »
Rakesh Kumar
Guest
KNOW SONIA GANDHI A Visit to Sonia Gandhi’s Birth Place Originally Published By Aravind G 06/02/2003 At 13:47 Reference URL : http://udayms.wordpress.com/2007/04/25/know-sonia-p2/ Yes, I am speaking here of Sonia Maino, the alien, non-Hindu widow of the late Rajiv Roberto Gandhi, hell bent to destroy India’s culture, religion and its people. A Visit to Orbassano, Sonia’s Birth Place It has been a great tragedy that for the last several centuries our people have been kept in the dark about the true identity of our rulers. I am not speaking here of our common people who, in great measure, have been denied… Read more »
Rakesh Kumar
Guest
अगर सुदर्शन जी ने कहा तो ऐसे ही नहीं कहा होगा, जरुर कहीं न कहीं ये बात कुच्छ हद तक सच होगी ! ज्यादा जानकारी के लिए पढ़ें डॉ. सुब्रमनियम स्वामी द्वारा लिखे इस लेख को जो सुप्रीम कोर्ट में वकील हैं . इन्होंने यह सारी जानकारी उस समय के प्रधान मंत्री अटल जी और गृह मंत्री आडवानी जी को भी दी थी, पर इसे वे इगनोरे कर दिए थे, फिर वो सुप्रीम कोर्ट में अपील दायर भी करने की कोशिश भी की थी जो कोर्ट ने डिसमिस कर दिया इसे पर्सनल गोपिनियता में दखल कह के ….. Do You… Read more »
Vishwash Ranjan
Guest
पूरे देश मैं धरना सादगीपूर्ण था, सांकेतिक होने के कारन धरने का उद्देश्य सिर्फ एक सन्देश देना था न की ट्राफिक जाम करना. सुदर्शन के बयान से अब राहुल को समझ आ गया होगा की बिना सिरपैर की बयान देने से और कीचड उछालने से कुछ दाग अपने ऊपर भी आ जाते हैं. आजकल के दौर मैं सबसे बड़ी मुसीबत यह है की अपनी विचारधारा से लोगों को जोड़ने के लिए मीडिया का उपयोग करना. जमीनी स्तर पर काम करो या न करो पर बयान जरूर दो वो भी ऐसा की सामनेवाला दल या व्यक्ति चारों खाने चित हो जाये.… Read more »
Anil Sehgal
Guest

————— यह आलोचना क्या किसी आधार पर की गयी है ? माननीय सुदर्शन जी —————

(१) सोनिया गांधी ने इंदिरा गांधी और राजीव गांधी की हत्या की साजिश रची थी.

(२) सोनिया गांधी अपनी मां की अवैध संतान हैं.

(३) सोनिया गांधी सीआईए की एजेंट हैं.

wpDiscuz