लेखक परिचय

डब्बू मिश्रा

डब्बू मिश्रा

इस्पात की धडकन का संपादक, सरकुलर मार्केट भिलाई का अध्यक्ष और अंर्तराष्ट्रीय ब्राह्मण का छत्तीसगढ राज्य प्रदेश सचिव । जनाधार बढाने का अटूट प्रयास ताकि कोई तो अपनो सा मिल जाये ताकि एक संघर्ष शुरू किया जा सके ।

Posted On by &filed under राजनीति.


सुदर्शन जी का बयान देश की राजनीती में भूचाल ला रहा है । हर बार की तरह फिर से कांग्रेस की डुबती नैय्या को सोनिया ही पार लगा रही हैं । महंगाई, आतंकवाद, भ्रष्टाचार, घोटाला और संघ को भगवा आतंकवाद कहने जैसे मुद्दों के बीच अचानक कांग्रेस को सोनिया के भूतकाल की आक्सीजन मिल गई है । के.एस. सुदर्शन पूर्व संघ प्रमुख भी है इसलिये इनके बयान को गंभीरता से लिया जाना चाहिये क्योकि अगर सोनिया अवैध होने के बयान को छोड भी दिया जाए तो बाकि आरोप यदि सच हुए तो ? जरा गौर फरमाएं इस लिंक पर सुरेश चिपलूनकर  जहां सोनिया जी के साथ साथ पूरे गांधी परिवार का इतिहास मिल जाएगा । इसलिये मत देखिये कि ये सब मनगढंत कहानी है इसलिये देखिये क्योंकि इसे हर भारतीय को देखना चाहिये और विशेष रूप से हर युवा कांग्रेसी को ताकि वह देशभक्ति और परिवारवादी शक्ति में अंतर समझ सके । औऱ अगर फिर भी कुछ कमी लगे तो भारतीय संसद में हुई इस कार्यवाही को पढें । कोई ये ना सोचे कि सुदर्शन नें एक महिला के बारे में चिप्पणी करे हैं बल्कि ये सोचें कि उनकी टीप्पणी भारत की सबसे शक्तिशाली महिला के विरूद्ध की गई है जो अपने आपको असहाय सी बताती हुई दुनिया के सबसे शक्तिशाली लोगों में प्रथम दस में स्थान बनाने में कामयाब होती आ रही है, ये चमत्कार नही एक पूरी सोचा समझी साजिश है जिससे आम जनता का वास्ता है ।

अफसोस ये है कि भारतीय मिडिया भी बडे प्यार से सोनिया को बेचारी बताना चाह रही है । आज का अखबार देखिये और न्यूज चैनलों में झांकिये और बताइये कितने लोग कह रहे हैं कि सुदर्शन नें सोनिया को इंदिरा और राजीव का हत्यारा कहे हैं । नही .. कोई नही कह रहा है सभी एक ही राग अलाप रहे हैं कि सोनिया को अवैध संतान कह दिया जबकि हमें ये नही सोचना है कि वो किसकी संतान है बल्कि ये सोचना है कि अगर उन्होने देश के दो राजनेताओं को मारने का षणयंत्र रचा है तो फिर हम उन्हे कहां बैठा कर रखे हुए है यानि कि अब हम वो दिन भी देख सकते हैं जब सोनिया कसाब को महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री बना दे क्योकि जाहिर है कि एक व्यापारी दुसरे व्यापारी की मदद भले ना करे पर एक अपराधी दुसरे  अपराधी को बचाने का प्रयास जरूर करता है ।
                           इस समय संघ को एक साथियों के साथ खडे  होने की जरूरत है चाहे संघ का कोई व्यक्ति कैसे भी बयान क्यों ना दे संघ को चाहिये कि वह इस समय सबसे केवल एक ही बात कहे कि संघ को भगवा आतंवादी संगठन बनाने पर तुली सोनिया कांग्रेस के प्रति उसके स्वयं सेवकों की एक भडास है । यदि संघ अपने हर कार्य़कर्ता से दूरी बनाते चले जाएगा तो आमजन भी संघ से दूरी रखना चाहेगा । उसे डर लगेगा कि यदि उसने देश भक्ति के प्रवाह संघ का साथ दिया और एन समय पर अगर संघ नें साथ छोड दिया तो  ?  तो …… अब आप क्या सोचें कि आप जो पढ रहे हैं या देख रहे हैं वह आपकी मर्जी है या दुसरे के बताए नजरिये पर आप सोच रहे हैं ।

Leave a Reply

8 Comments on "का कहन सुदर्शन जी"

Notify of
avatar
Sort by:   newest | oldest | most voted
श्रीराम तिवारी
Guest

श्री गोविन्द माधव वैद्य ,श्री कैलाश जोशी .श्रीमती मायासिंह और भैय्याजी जोशी जैसे वरिष्ठतम संघियों और भाजपाइयों द्वारा माफ़ी मांग लेने के बाद ,कांग्रेस जनों को अब इस विषय में ज्यादा तूल नहीं देना चाहिए .जो तत्व अभी भी श्रीमती सोनिया गाँधी पर भौंक रहे हैं .उन्हें पूरी आज़ादी है की वे सोनिया जी पर लगाए आरोपों को अदालत में सावित करें ….यदि अदालत में जाने की ओकात नहीं तो अपनी अपनी माँ -बहिनों से पून्चें की वे इतने घटिया और गन्दी मानसिकता से पीड़ित हैं ,अतः मानसिक चिकित्सक को दिखाएँ ….

himwant
Guest

You can win Italian dollar 100000. You just need to answer this question incorrectly.

What did ex RSS Chief Baba K.S. Sudarshan said to about Soniya Gandhi?

1) She is illegal child (as his father was in jail in 1944 when she was born)
2) She is a CIA agent
3) She is responsible for murder of his mother-in-law Indira AGandhi
4) She is responsible for murder of his husband Rajeev Gandhi
5) All above

Those who give correct answer will be sued in Indian court on charges of being a Hindu terrorist.

Secretary General
Congree Party Pvt Ltd

श्रीराम तिवारी
Guest

संघ के पापों का घडा अभी पूरी तरह नहीं भरा .सुदर्शन जैसे दो चार और वयां देकर देखो फिर भुगतो आपातकाल .

Mayank Verma
Guest
हमारे देश के लोग इतने समझदार तो है की वो एक वयोवृद्ध अनुभवी स्वयमसेवक की इस टिपण्णी के निहितार्थ समझा पाएंगे. पाप की जड़ पर हमला जरूरी है निति भी यही कहती है. पाप को जड़ से ही समूल नष्ट कियाजाना चाहिए. ऐसे शातिर दल देश के लिए बहुत बड़ा खतरा है | पाप और भ्रस्टाचार के घड़े का फूटना निश्चित है. आज सत्ता कांग्रेस के हाथ मैं है तो सीबीआई के मार्फ़त संघ के लोगों को फसाकर झूठे मामले बना रही है | ब्लॉग क्रांति से इस देश का युवा हर उस वास्तविकता से परिचित हो रहा है जो… Read more »
डॉ. मधुसूदन
Guest

रण नीति ऐसे ही होती है। साथ छोडने की बात नहीं।

wpDiscuz