लेखक परिचय

जयराम 'विप्लव'

जयराम 'विप्लव'

स्वतंत्र उड़ने की चाह, परिवर्तन जीवन का सार, आत्मविश्वास से जीत.... पत्रकारिता पेशा नहीं धर्म है जिनका. यहाँ आने का मकसद केवल सच को कहना, सच चाहे कितना कड़वा क्यूँ न हो ? फिलवक्त, अध्ययन, लेखन और आन्दोलन का कार्य कर रहे हैं ......... http://www.janokti.com/

Posted On by &filed under व्यंग्य.


manmohan-and-sonia

मुशर्रफ, मनमोहन, ऐश्वर्या राय और सोनिया एक ट्रेन में यात्रा कर रहे हैं।
ट्रेन एक सुरंग से निकलती है ट्रेन में अंधेरा हो जाता है। अचानक वहां एक चुंबन ध्वनि और फिर एक थप्पड़ की आवाज आती है।
ट्रेन सुरंग से बाहर आती है।
सभी चुपचाप बैठे रहते हैं कोई कुछ नहीं बोलता बस कूटनीति से सब मुशर्रफ का चेहरा देखते हैं क्योंकि उसका गाल लाल है।
सोनिया सोच रही है: ये सभी पाकिस्तानी ऐश्वर्य के पीछे पागल हो रहे हैं। सुरंग में उसे चूमने की कोशिश की गई होगी, उसने अच्छा किया जो थप्पड़ मार दिया।
ऐश्वर्या सोच रही है: मुझे चूमने की कोशिश की होगी, लेकिन सोनिया को चूमा और बदले में सोनिया ने थप्पड़ मारा होगा।
मुशर्रफ सोचते है: धिक्कार है, मनमोहन ने ऐश्वर्या चूमने की कोशिश की होगी और उसने मुझे थप्पड़ मार दिया।
मनमोहन सोचते हैं: अगर ट्रेन एक और बार सुरंग से गुजरती है तो मैं फिर से चुंबन की ध्वनी निकाल कर मुशर्रफ को एक और चांटा मार .दूंगा…………………. 

( अभी -अभी फेसबुक पर रजनीश कुमार झा का यह सुंदर व्यंग हाथ लगा तो सोचे क्यूँ न आप तक पहुँचाया जाए )

Leave a Reply

2 Comments on "चुंबन की आवाज़ और चांटा !"

Notify of
avatar
Sort by:   newest | oldest | most voted
rakesh
Guest

very-very nice

rlmishra
Guest

खूब् सॊचतॆ हॊ जनाब् ,चूमना कॊई आप् सॆ सीखॆ

wpDiscuz