लेखक परिचय

अनुज अग्रवाल

अनुज अग्रवाल

लेखक वर्तमान में अध्ययन रत है और समाचार पत्रों में पत्र लेखन का शौक रखते हैं |

Posted On by &filed under व्यंग्य.


प्रिय मित्रों ,

इस बार चुनावों के शुभ अवसर पर समाजसेवा का भूत चढा है | इसीलिए १ नयी पार्टी बनाने जा रहा हूँ | नाम होगा chappal(TAP) | आजकल पार्टियों का नाम फल फ्रूट पर रखे जाने का फार्मूला हिट है फिर हमें तो और भी गरीब लाचार दिखना है इसीलिए हम अपनी पार्टी का नाम किसी सब्जी पर ही रखेंगे | पर चूंकि आम फलो का राजा है इसीलिए इस नाम में अमीर उद्योगपतियों की साजिश की बू आती है और तोरई तो हम और आप सब असली झाडू छाप लोग ही खाते हैं इसीलिए पार्टी का नाम इसी सर्वभक्षी, सर्वहारा.. ग़रीबों का सहारा सब्जी के नाम पर रखा जाएगा |

भाइयो वैसे तो बैगन और लौकी भी लाइन में थे | पर क्या है कि इनसे अपना स्टैण्डर्ड खराब होता है | दूसरा ये सब्जी अपनी तोरई से रुपये २ रुपये मंहगी भी होती है तीसरा ये बेतुके स्वाद वाली सब्जियां भी हैं युवाओं को इनका स्वाद बिलकुल पसंद नहीं | फिर भी हम इन्हें एसएम्एस-२ खेल कर कंसीडर करने को तैयार हैं | आप अपना एसएम्एस हमारे स्पेशल नंबर 35-23-9211 पर करके अपनी राय जरूर भेजिए | आप चाहे तो अपनी राय हमारी ईमेल-आईडी farjibaba@anuj.com पर भेज सकते  हैं |

साथियों नाम के बाद दूसरी बड़ी समस्या है पार्टी का चुनाव चिन्ह तय करना | नोबेल जीतने के लिए डा. खुराना और कैलाश सत्यार्थी ने इतनी मेहनत नहीं की होगी जितनी मैंने अपनी पार्टी के चुनाव चिन्ह को खोजने में की है | तो भाइयो अपनी पार्टी का चुनाव चिन्ह होगा “हवाई चप्पल” जिसकी १ वर्दी टूटी होगी | बिलकुल एसी

 

क्या है कि आजकल नेताओं के स्टेज पर जूते या चप्पल फेंकने का बड़ा क्रेज है | और जब स्टेज पर हम खुद होंगे तो इसकी सम्भावना और भी बढ जाती है | अब देखिये अगर हमारी पार्टी के किसी कार्यक्रम में चप्पले फिकीं तो हम मीडिया को बताएँगे कि ये हमारे विरोधियो की साजिश हैं | ये पुराने जमे हुए बेईमान नए नवेले उगे हुए ईमानदार लोगो को बर्दाश्त नहीं कर पा रहे हैं | इससे कार्यकर्ताओं में जोश पैदा होगा | जनता में भ्रम फैलेगा कि हमारी लोकप्रियता बढ़ रही है | और हमारी पार्टी बहुमत में आ  जायेगी |

ईश्वर की असीम अनुकम्पा और आपके कमरतोड़ आशीर्वाद से मैं अपनी विधानसभा सीट चौटाला और ठाकरे के खिलाफ निकाल ही लूँगा | अपनी इमानदारी, सच्चाई और ऐसे ही करीब १०००० अज्ञात गुणों के बलबूते मैं बाकी की सीटों का इंतज़ाम कर मुख्यमंत्री बन जाऊँगा | अब आप पूछेंगे कि एकदम से मुख्यमन्त्री कैसे तो भाई क्या है कि ईमानदारी का नया ठेका अब हमारे पास है इसीलिए बाकी सभी पार्टियों को हमें समर्थन देना ही होगा | ठीक एक हफ्ते बाद हमारी पार्टी का मैनिफेस्टो घोषित किया जाएगा | कृपया आप सब हमारी पार्टी से जुड़े और इस देश के एकमेव घोषित तारणहार यानि कि फर्जी बाबा यानि कि अनुज अग्रवाल को वोट नोट और सपोर्ट दें …. 🙂

(क्रमश:)

-अनुज अग्रवाल

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz