लेखक परिचय

जयराम 'विप्लव'

जयराम 'विप्लव'

स्वतंत्र उड़ने की चाह, परिवर्तन जीवन का सार, आत्मविश्वास से जीत.... पत्रकारिता पेशा नहीं धर्म है जिनका. यहाँ आने का मकसद केवल सच को कहना, सच चाहे कितना कड़वा क्यूँ न हो ? फिलवक्त, अध्ययन, लेखन और आन्दोलन का कार्य कर रहे हैं ......... http://www.janokti.com/

Posted On by &filed under विश्ववार्ता.


musharafराष्ट्रपति पद गंवाने के बाद पहली बार भारत पधारे मियां मुशर्रफ़ की एक प्रेस कांफ्रेंस के दौरान खूब फजीहत हुई। मुशर्रफ़ ने कहा कि मुंबई आतंकी घटना की वजह है कश्मीर समस्या। जिस दिन कश्मीर समस्या का हल निकल आया, आतंकवाद ख़ुद -बखुद समाप्त हो जाएगा। भारत के लोगों को हमेशा ग़लतफ़हमी रही है कि आई एस आई और पाक सेना शान्ति नही चाहती। पाकिस्तान के ऊपर शक की निगाह से दोहरे चरित्र होने का आरोप भी लगता रहा है, जबकि ऐसा बिल्कुल नही है।

आगे अपने बयान में मुशर्रफ़ ने भारतीय मुसलमानों के साथ ज्यादती का मुद्दा बड़ी ही गर्मजोशी से उठाया लेकिन तभी पीपुल्स डेमोक्रटिक पार्टी (जो पहले इस्लामी सेवक संघ नमक एक उग्रवादी संगठन था) के नेता अब्दुल नासिर मदनी ने पलटवार करते हुए कहा कि भारतीय मुस्लमान किसी भी चुनौतियों का सामना करने में सक्षम हैं। हमें आपके सलाह की जरुरत नही। मदनी की बात सुनकर मुशर्रफ़ नजरें बचते हुए दिखे । भारत-पाक के बीचइतने तनावपूर्ण माहौल में एक कट्टरपंथी मुस्लिम नेता का मुशर्रफ़ को दो टुक जबाब देना महत्वपूर्ण संकेत है। क्योंकि आम तौर पर कहा जाता है कि भारत के मुस्लिम रहनुमाओं के भीतर पाकिस्तान के प्रति सॉफ्ट कोर्नर रहताहै।

पाक के पूर्व राष्ट्रपति द्वारा आतंकवाद के मसले पर कश्मीर और भारतीय मुस्लिमो के साथ ज्यादती के मुद्दे की आड़ लेकर भारत को घेरने की कोशिश और मदनी का जवाब , इस गुत्थी को सुलझने में वक्त लग सकता है ! फिलवक्त , इतना जरुर कह सकते हैं कि भारत में मुस्लिम राजनीति नई करवटें ले रहा है।


जयराम चौधरी

बी ए (ओनर्स)मास मीडिया
जामिया मिलिया इस्लामिया
मो:09210907050

Leave a Reply

1 Comment on "मुशर्रफ़ को मदनी का दो टुक जबाब — जयराम ‘विप्लव’"

Notify of
avatar
Sort by:   newest | oldest | most voted
इसरार अहमद
Member

Its really a nice reply from mr. madni….

wpDiscuz