लेखक परिचय

रोहित श्रीवास्तव

रोहित श्रीवास्तव

रोहित श्रीवास्तव एक कवि, लेखक, व्यंगकार के साथ मे अध्यापक भी है। पूर्व मे वह वरिष्ठ आईएएस अधिकारी के निजी सहायक के तौर पर कार्य कर चुके है। वह बहुराष्ट्रीय कंपनी मे पूर्व प्रबंधकारिणी सहायक के पद पर भी कार्यरत थे। वर्तमान के ज्वलंत एवं अहम मुद्दो पर लिखना पसंद करते है। राजनीति के विषयों मे अपनी ख़ासी रूचि के साथ वह व्यंगकार और टिपण्णीकार भी है।

Posted On by &filed under व्यंग्य.


mother childमाँ और ‘बच्चे’ का अटूट-रिश्ता कुछ वैसे ही जैसे :-

* चोली का ‘दामन’ से होता है।

* चीटी का ‘चीनी’ से होता है।

* आग का ‘पानी’ से होता है।

* हरे का ‘लाल’ से होता है।

* चांटे का ‘गाल’ से होता है।

* पेड़ का ‘ड़ाल’ से होता है।

* शस्त्र का ‘ढ़ाल’ से होता है।

* दुकानदार का ‘माल’ से होता है।

* खाने का ‘लार’ से होता है।

* चावल का ‘दाल’ से होता है।

* घोड़े का ‘नाल’ से होता है।

* सर्दी का ‘शाल’ से होता है।

* गंजे का ‘बाल’ से होता है।

* हरे का ‘लाल’ से होता है।

* मकड़ी का ‘जाल’ से होता है।

* सुर का ‘ताल’ से होता है।

* मौत का ‘काल’ से होता है।

* बाजी का ‘चाल’ से होता है।

* राज़ का ‘पोल’ से होता है।

* हसने का ‘लोल’ से होता है।

* अभिनेता का ‘रोल’ से होता है।

* रोटी का ‘गोल’ से होता है।

* भाव का ‘मोल’ से होता है।

* झाल का ‘झोल’ से होता है।

* टेक्स का ‘टोल’ से होता है।

* बेट का ‘बॉल’ से होता है।

* तराजू का ‘तोल’ से होता है।

* शांति का ‘मौन’ से होता है।

* बोली का ‘टोन’ से होता है।

* मोबाइल का ‘फोन’ से होता है।

* ब्याज का ‘लोन’ से होता है।

* धर्म का ‘कौम’ से होता है।

* बत्ती का ‘मोम’ से होता है।

* अंग का ‘रोम’ से होता है।

* रवि का ‘सोम’ से होता है।

* पापा का ‘मॉम’ से होता है।

* क्रिकेटर का ‘फॉर्म’ से होता है।

* नियम का ‘नोर्म’ से होता है।

* धुन का ‘संगीत’ से होता है।

* मन का ‘मीत’ से होता है।

* गायक का ‘गीत’ से होता है।

* रिवाज का ‘रीत’ से होता है।

* मन का ‘प्रीत’ से होता है।

* इंच का ‘फीट’ से होता है।

* ऊंचाई का ‘लिफ्ट’ से होता है।

* बिक्री का ‘मुफ्त’ से होता है।

* चुस्ती का ‘सुस्त’ से होता है।

* गुस्से का ‘रुष्ट’ से होता है।

सच मे कितना मजबूत और सशक्त है न माँ-बच्चे का अद्भुत एवं अतुलनीय रिश्ता। ‪

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz