लेखक परिचय

कुमार सुशांत

कुमार सुशांत

भागलपुर, बिहार से शिक्षा-दीक्षा, दिल्ली में MASSCO MEDIA INSTITUTE से जर्नलिज्म, CNEB न्यूज़ चैनल में बतौर पत्रकार करियर की शुरुआत, बाद में चौथी दुनिया (दिल्ली), कैनविज टाइम्स, श्री टाइम्स के उत्तर प्रदेश संस्करण में कार्य का अनुभव हासिल किया। वर्तमान में सिटी टाइम्स (दैनिक) के दिल्ली एडिशन में स्थानीय संपादक हैं और प्रवक्ता.कॉम में सलाहकार-सम्पादक हैं.

Posted On by &filed under प्रवक्ता न्यूज़.


-कुमार सुशांत
16वीं लोकसभा चुनाव बहुत मायने में खास रहा। जनता के जनादेश ने साफ कर दिया कि विकास की बातें करो नहीं तो उखाड़ फकेंगे। अरविंद केजरीवाल जैसे नेता को संदेश दिया कि हम विकल्पवश ऐसी नवसिखुई सरकार बना सकते हैं तो कान पकड़कर बाहर भी भेज सकते हैं। कांग्रेस को बता दिया कि यह देश घोटालों और अव्यवस्थाओं का देश नहीं रहेगा, विदेशों से डरपोकों की तरह दुबककर रहने वाला देश नहीं रहेगा, बेरोजगारों का जमावड़ा बढ़ाने वाला देश नहीं रहेगा, सांप्रदायिकता के नाम पर राजनीति करने वालों का देश नहीं रहेगा। जनता ने बता दिया कि काम करो, नहीं तो बे-काम रहो। बड़े-बड़े धुरंधरों को मोदी के सामने धुल चाटते देखा गया। उत्तर प्रदेश में जनता ने सपा को संदेश दिया कि तुम्हारे परिवार को केवल जीता रहे हैं, बाकी अगले यूपी विधानसभा में समझ लो। बसपा को बता दिया कि दलित के नाम पर दम न भरो, एक भी खाता नहीं खुलवाकर दिखा सकते हैं। कांग्रेस को सबक सिखाया कि मां-बेटे (सोनिया-राहुल) को सीख लेने के लिए केवल दो सीट दे रहे हैं, बाकी तुम्हारे (कांग्रेसी) सभी नेताओं की ऐसी की तैसी। खैर, चलिए एक मजेबात बात। विजय का ताज पहनने वाले नरेंद्र मोदी पर जिस तरह से कटाक्ष-बयान की वर्षा चुनाव के दरम्यान हुई, उसके जरा फ्लैशबैक में लिए चलेंगे, उससे पहले आपको बताते हैं कि नरेंद्र मोदी के जीतने से लेकर प्रधानमंत्री की गद्दी पहुंचने तक कितने सारे रिकॉर्ड बने।

• नरेंद्र मोदी ने अब तक देशभर में तीन लाख किलोमीटर से अधिक दूरी तय कर एक तरह का रिकॉर्ड बनाया। बीजेपी ने इसे भारत के चुनावी इतिहास का सबसे बड़ा जनसंपर्क बताया जिसमें मोदी पिछले साल 15 सितंबर से 25 राज्यों में 437 जनसभाओं को संबोधित कर चुके हैं और 1350 3डी रैलियों में भाग ले चुके हैं।
• प्रचार के परंपरागत और अभिनव तौर-तरीकों के मिलेजुले स्वरूप के साथ 5827 कार्यक्रमों में भाग भी लिया है, जिसमें उनके 4000 ‘चाय पे चर्चा’ कार्यक्रम भी शामिल हैं। इनमें मोदी ने देश के अनेक शहरों की जनता से वीडियो लिंक के माध्यम से चर्चा की।
• इसके अलावा मोदी के दो बड़े रोड-शो भी गिने जा सकते हैं जो उन्होंने वडोदरा और वाराणसी में किये। इन दोनों सीटों से उन्होंने बड़ी जीत भी हासिल की।
• वडोदरा में मोदी ने रिकॉर्ड वोटों से जीत दर्ज करने के साथ ही उनके ट्वीट ने भी रिकॉर्ड बना डाला। मोदी के जैसे ही शुक्रवार को पहला ट्वीट किया, इसे रीट्वीट करने की होड़ी लग गई। इस ट्वीट ने देश में किसी भी ट्वीट के रीट्वीट किए जाने के रिकॉर्ड को तोड़ दिया। जब एनडीए चुनाव परिणामों में काफी आगे थी तो मोदी ने ट्वीट किया “India has won! भारत की विजय। अच्छे दिन आने वाले हैं।” देखते ही देखते यह ट्वीट 39,742 बार रीट्वीट कर दिया गया और इसे 21,692 लोगों से पसंद भी किया। ट्वीटर इंडिया के अधिकृत अकाउंट ने भी इसकी पुष्टि की और कहा कि वाकई यह ट्वीट भारत में सबसे ज्यादा बार रीट्वीट किया गया।
• नरेंद्र मोदी ने वाराणसी में पर्चा दाखिले के साथ एक रिकॉर्ड भी बनाया था। मोदी वाराणसी के पहले ऐसे उम्मीदवार बने, जिनके खिलाफ पांच या दस नहीं बल्कि रिकॉर्ड 77 प्रत्याशियों ने चुनाव लड़ा। वाराणसी संसदीय सीट पर मोदी को लेकर कुल 78 प्रत्याशी चुनावी अखाड़े में अपनी ताल ठोंक रहे हैं। वहीं वडोदरा सीट पर उनके खिलाफ कुल सात उम्मीदवारों ने चुनाव लड़ा।
• नरेंद्र मोदी आजाद ऐसे पहले प्रधानमंत्री होंगे जिनका जन्म आजादी के बाद हुआ है।
• मोदी ऐसे पहले प्रधानमंत्री होंगे जिनकी माता सकुशल (जीवित) हैं।
• नरेंद्र मोदी को वाराणसी सीट पर जितने बहुमत मिले – 5,81,022 और बाकी उम्मीदवारों (केजरीवाल और जय राय के साथ) के सारे बहुमतों को जोड़ भी दिया जाए तो मोदी के बराबर के आंकड़ा से एक लाख 32 हज़ार 359 मतों से दूर रहे।

इनकी निकली हवा-

इन नेताओं ने चुनाव के पहले किस तरह का बयान दिया था, एक नज़र

लालू ने कहा था, ‘कसाई से भी बड़ा कसाई है नरेंद्र मोदी’
lalu_yadavआरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद ने कहा था कि देश का प्रधानमंत्री बनने का सपना देख रहे बीजेपी के इस नेता से तो कसाई भी शरमा जाए। क्या यह आदमी भारत का प्रधानमंत्री बनेगा?’ लालू ने फिर ट्विट कर कहा था कि मैं धरती पुत्र हूं, मैनें मां का भी दूध पीया है, गाय और भैंस का भी। वे हमसे क्या लड़ेंगे जिन्हें देखकर कसाई भी शर्माता हो।’

 

मायावती ने कहा था, मुस्लिम नहीं, दलित बेटी बनेगी पीएम
mayawati
बसपा अध्यक्ष मायावती ने कहा था कि लोकसभा चुनाव में बसपा को कामयाबी मिलने के बाद प्रधानमंत्री बनने की बात आने पर कोई मुस्लिम नहीं बल्कि वह खुद गद्दी पर बैठेंगी। मजे की बात है कि उत्तर प्रदेश में मायावती की पार्टी मोदी लहर में ऐसी उड़ी कि खाता भी नहीं खुला।

 

ममता बनर्जी ने कहा था, दिल्ली में होती तो मोदी को जेल भेज देती।
mamta
ममता बनर्जी ने नरेंद्र मोदी को समर्थन देने से इनकार करते हुए कहा कि कांग्रेस में बीजेपी पर कार्रवाई करने की हिम्मत नहीं है। ममता ने कहा कि अगर वह दिल्ली में होतीं तो मोदी को जेल भेज देतीं।

 

निराश नीतीश की ऐसी हवा निकली कि दे दिया इस्तीफा
nitish
नीतीश कुमार ने कहा था कि कुछ लोग लालकिले का सपना देख रहे हैं। मौका मिले या ना मिले झंडा फहराते हैं। दिल्ली पर निशाने साधते हुए कहा बाहरी दिल्ली में सड़कें नहीं, दिल्ली में ऊपर-ऊपर विकास होता है। दिल्ली की हालत तो बिहार के गांव से भी ज्यादा खराब है। देश को सांप्रदायिकता का खतरा है। हमने सिद्धांतों से समझौता नहीं किया। कहा था कि देश की एकता कम करने की कोशिश की जा रही है। वहीं जनता ने ऐसी एकता दिखाई कि एक तरफ मोदी को स्पष्ट जनादेश दिया तो वहीं, बौखलाई नीतीश बाबू ने बिहार के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा ही दे दिया।

देशभक्ति की ढोल पीट रहे हैं मोदी- सोनिया
sonia-gandhi
सोनिया गांधी के कहा था कि कुछ लोग देशभक्ति के ढोल पीट रहे हैं और जो लोग धर्मनिरपेक्ष मूल्यों में विश्वास नहीं करते वे केवल लोगों को गुमराह कर किसी भी तरह “सत्ता हथियाना” चाहते हैं। कहा था कि इन दिनों भाजपा के नेता अपना वेष बदल रहे हैं और मगरमच्छ के आंसू रो रहे हैं। उन्होंने कहा कि इन दस वर्षों में कांग्रेस की सरकार ने जितना काम किया है उतना किसी भी ग़ैर-कांग्रेसी सरकार ने नहीं किया है। जनता ने ऐसा जवाब दिया कि उत्तर प्रदेश में मां-बेटे की सीट को छोड़कर बाकी कांग्रेसी धाराशाई हो गए।

बेनी ने कहा था, मोदी को होगी उम्रकैद
beni-prasad-verma
कांग्रेस नेता बेनी प्रसाद वर्मा ने कहा था कि आरएसएस एक गुंडों की पार्टी है। बेनी ने आरएसएस की तुलना मुसोलिनी के गुंडों से कर दी थी। कहा था कि वह मोदी के खिलाफ बोलते रहेंगे। भले ही इसके लिए उन्हें फांसी पर चढ़ा दिया जाए। उन्होंने राहुल गांधी के बारे कहा था कि वही प्रधानमंत्री बनेंगे और मोदी को उम्रकैद की सजा मिलने की भविष्यवाणी भी कर दी थी। हालत ये हुई कि कांग्रेस के साथ बेनी बाबू की भी हवा निकल गई।

केजरीवाल ने कहा था, मोदी नहीं बनेंगे पीएम
ARVIND KEJRIVAL
आम आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि 2014 के चुनाव के बाद लोकसभा में किसी पार्टी को बहुमत नहीं मिलेगा और साल-दो साल बाद देश में दोबारा चुनाव होंगे। कहा था कि इस चुनाव के बाद नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री नहीं बन सकते। केजरीवाल विश्वास में थे कि उनकी पार्टी को 100 सीटें मिलेंगी। केजरी बाबू की ऐसी हवा निकली की बनारस में क्या दिल्ली में भी फुस्स हो गए।

प्रियंका को जनता का जवाब
Priyanka GANDHI
प्रियंका गांधी ने कहा था मोदी ने उनके शहीद पिता राजीव गांधी का अपमान किया है। प्रियंका ने निचले स्तर की राजनीति करने का आरोप लगाया था। कहा था कि इसका जवाब देश की जनता देगी। देश की जनता ने ऐसा जवाब दिया कि प्रियंका की बोलती बंद हो गई।

मोदी को भारत की समझ नहीं है- राहुल गांधी
Rahul Gandhi
राहुल गांधी ने कहा था कि नरेंद्र मोदी में भारत की समझ नहीं है। कहा था कि हम यह नहीं कह सकते कि हम देश बदल देंगे। जनता की ताकत इसे बदलेगी। हममें और उनमें यही फर्क है। वह (भाजपा) लोगों को लड़ाते हैं, गुस्सा फैलाते हैं, हम प्रेम और करूणा फैलाते हैं। जनता ने राहुल गांधी को ऐसा करुणा का पाठ पढ़ाया कि हवा की निकल गई और पूरा कांग्रेस पंचर हो गया।

 

मुलायम सिंह यादव ने कहा था- दिन में पांच कुर्ते बदलने वाला क्या जानेगा गरीब का दर्द
mulayam
मुलायम सिंह यादव ने नरेंद्र मोदी की गरीबों के प्रति हमदर्दी और विकास की बातों को झूठ करार देते हुए कहा था कि जो व्यक्ति एक दिन में पांच कुर्ते बदलता हो, वह गरीब का दर्द क्या समझेगा। कहा था मोदी अपनी सभाओं में उमड़ने वाली भीड़ से नहीं बल्कि विकास के पैमाने से सपा का मुकाबला करके दिखाएं। मोदी ने ऐसा मुकाबला किया कि सपा उड़ गई। पुत्र अखिलेश समेत पिता मुलायम की हवा निकल गई।

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz