Posted On by &filed under उत्तर प्रदेश, राज्य से.


उत्तर प्रदेश में नकल माफिया पर कसा शिकंजा

यूपी में नकल माफिया पर कसा शिकंजा-उत्तर प्रदेश में नकल के खिलाफ राज्य सरकार ने बड़ी कार्रवाई करते हुए 14 परीक्षा केंद्रों पर पांच साल तक रोक लगा दी है। जबकि 57 परीक्षा केंद्रों पर फिर से परीक्षाएं कराई जाएंगी।

 योगी सरकार ने नकल माफियाओं और नकलची छात्रों पर शिकंजा कस दिया है।राज्य में बड़े स्तर पर हुई नकल को लेकर करीब 1500 छात्रों को दंड देते हुए निष्कासित कर दिया गया है।

इसके तहत करीब 111 परीक्षा केंद्र मैनेजरों, 178 निरीक्षकों और 70 से अधिक छात्रों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। इसके अलावा 7 जिलों के शिक्षा विभाग के अधिकारियों को नोटिस दिया गया है।

परीक्षा केंद्रों पर अब छापामारी के लिए परीक्षार्थियों की संख्या बल को खंगाला गया है। जिन परीक्षा केंद्रों पर 25 से अधिक परीक्षार्थी हैं वहां पर हर दिन तीन बार छापा डाला जाएगा। वहीं जिन परीक्षा केंद्रों पर 50 से 70 के बीच परीक्षार्थी होंगे वहां पर सुबह से ही पाली शुरू होते ही नजर के सामने पेपर खुलेंगे। साथ ही जिन परीक्षा केंद्रों पर 100 से अधिक परीक्षार्थी हैं वहां पर ताबड़तोड़ छापामार कर नकल की रीढ तोड़ी जाएगी।
सरकार ने हाल ही में नकल के खिलाफ हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया था। इससे पहले खुद सीएम आदित्यनाथ योगी नकल रोकने को लेकर सख्त बयान दे चुके हैं।

Comments are closed.