Posted On by &filed under दक्षिण भारत, राजनीति, राज्य से.


प्रधानमंत्री मोदी की पहल पर सारा को मिला एजुकेशन लोन

प्रधानमंत्री मोदी की पहल पर सारा को मिला एजुकेशन लोन

प्रधानमंत्री मोदी की पहल पर सारा को मिला एजुकेशन लोन। कर्नाटक के मांड्या की छात्रा सारा को एमबीए की पढ़ाई के लिए एजुकेशन लोन चाहिए था। लेकिन बैंक उसे लोन नहीं दे रहे थे तो उसने पीएम मोदी को पत्र लिखकर मदद मांगी। जिसके बाद छात्रा को बैंक ने 1.5 लाख रुपए का लोन दे दिया गया।
कहते हैं कि अगर जीवन में आगे बढ़ना है तो सपने ज़रूर देखने चाहिए. और ये सपने अगर पूरे मन से देखे जाएँ तो वो सच भी ज़रूर होते हैं और इस बात की जीती जागती मिसाल हैं कर्नाटक के मांड्या की छात्रा सारा. जिन्होंने सपना देखा है कुछ बनने का, और कुछ कर दिखाने का. लेकिन घर की खराब आर्थिक स्थिति उनके इस सपने के आड़े आ गयी.

मांड्या की रहने वाली सारा अपने परिवार में अकेली बेटी है, वो आगे कि शिक्षा लेना चाहती थी लेकिन इसके लिए उसके परिवार के पास पैसे नहीं थे. जिसके चलते बैंक भी उसे एजुकेशन लोन देने के लिए तैयार नहीं थे.पर कहते हैं न उम्मीद पर दुनिया क़ायम है. सारा ने अपनी उम्मीदों को मरने नहीं दिया.

काफी कोशिशें करने के बाद भी जब लोन नहीं मिला तो थक-हारकर, पढ़ने की चाहत रखने वाली इस बेटी ने पीएमओ को पत्र लिखा और लोन दिलाने में मदद करने  के लिए प्रधानमंत्री मोदी से अपील की. सारा ने पीएम मोदी को लिखे पत्र में ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ योजना का भी जिक्र किया.

पत्र मिलने पर पीएमओ ने भी त्वरित कार्रवाई करते हुए कर्नाटक के मुख्य सचिव को छात्रा को लोन दिलाने का आदेश जारी कर दिया. पीएमओ के आदेश के बाद सारा को विजया बैंक से एजुकेशन लोन मिल गया.

एमबीए के लिए बैंक से लोन स्वीकृत होने के बाद सारा ने अपनी खुशी जाहिर की है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार जताया है उसने कहा, ‘इतनी बड़ी आबादी वाले देश में मोदी जी ने मुझे जवाब दिया और मेरी मदद की इसके लिए मैं उनकी शुक्रगुजार हूं।

गौरतलब है कि सारा एक होनहार लड़की है, और बैंकिंग में करियर बनाना चाहती है. फिलहाल वो एमबीए कर रही हैं. सारा को बी. कॉम. में 83 प्रतिशत अंक मिले हैं और वो जीवन में एक अच्छी बैंकर बनकर बहुत कुछ करना चाहती हैं. वो चाहती हैं देश की हर बेटी पढ़े और राष्ट्र निर्माण में अपना योगदान दे.

Comments are closed.