Posted On by &filed under राजनीति.


mangal-pandey_350_012413080929विलय का नाटक जनता को भटकाने की साजिश: मंगल पांडे
पटना, । भारतीय जनता पार्टी के प्रदेष अध्यक्ष मंगल पाण्डेय ने कहा है कि विलय या गठबंधन का नाटक जनसमस्याओं के मुद्दों से जनता को भटकाने की साजिष है । पिछले छः महीने से जनता महापरिवार के गठन को कवायद चल रही है। आर्थिक तंगी से जूझ रहे किसान आत्म हत्या कर रहे हैं लेकिन बड़े भाई या छोटे भाई को इसकी कोई चिंता नहीं है।भाजपा नेता ने कहा कि बड़े भाई लालू प्रसाद और छोटे भाई नीतीष कुमार को अपने राजनीतिक भविष्य की चिंता अधिक सता रही हैं क्योंकि दोनों को मालूम है कि वे वापस सत्ता में आने वाले नहीं हैं इसलिए चुनाव तक गठबंधन या विलय का नाटक करते रहेंगे । दरअसल इनका मुख्य मुद्दा भाजपा की बढ़ती ताकत को रोकना है। उन्हें मालूम होना चाहिए कि विलय या गठबंधन पानी का एक बुलबुला है जो गंगा जैसी पवित्र और निर्मल समान भाजपा की बढ़ती लोकप्रियता की प्रचंड धारा के आगे फूस्स हो जायेगी। राजद और जदयू के नेताओं की मतभिन्न्ता और जितने मुंह उतनी बात के समक्ष भाजपा गठबंधन की अटूट एकता से नीतीष कुमार का तिलमिलाना स्वाभाविक है। पहले आप पहले आप के जुमले में खटास की लहर तैर रही है जिसे जनता अब अच्छी समझ गयी है और वह इन दोनों के झांसे में आने वाली नहीं है। हालात तो ऐसे हो गये कि प्रधानमंत्री का ख्वाब देखने वाले नीतीष कुमार पूरी तरह असहाय और अकेले पड़ गये हैं।श्री पाण्डेय ने कहा कि धान की खरीद राषि का भुगतान न होने के कारण तंगहाल किसान आत्म हत्या करने को मजबूर हैं। होमगार्ड के जवानों के आंदोलन से पूरे बिहार में अषांति फैली है। मुख्यमंत्री के गृह जिला में छात्रों पर बर्बर लाठीचार्ज किया गया है । असुरक्षा के कारण कई मेडिकल के जूनियर डाक्टर आंदोलनरत हैं। मरीज भगवान भरोसे हैं । लेकिन मुख्यमंत्री नीतीष कुमार को इसकी कोई चिंता नहीं। दिल मिले या न मिले जबरन दल मिलाने के लिये दिल्ली में जमे बैठें हैं। एक माह में अब तक तीन किसान आत्म हत्या कर चुके हैं लेकिन किसी के घर मातमपुर्सी करने के लिये नीतीष कुमार या लालू प्रसाद ने जाना तक उचित नहीं समझा। श्री पांडे ने नीतीष कुमार को कहा कि आपकी कारगुजारियों को जनता बड़े करीब से देख रही है । वह दिन दूर नहीं जब सिर्फ और सिर्फ भाजपा को रोकने की आपकी मुहिम बालू की ढेर की तरह भरभरा कर समतल हो जायेगी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

* Copy This Password *

* Type Or Paste Password Here *