Posted On by &filed under मनोरंजन, समाज.


उज्जैन में अप्रैल से शुरु होने वाले सिंहस्थ के लिए जल संसाधन विभाग ने एक दिन में एक करोड़ लोगों के स्नान की व्यापक पैमाने पर व्यवस्था की है।
आधिकारिक जानकारी के अनुसार जल संसाधन विभाग द्वारा प्रत्येक स्नान के दिन 18 घंटे (प्रातः 4 बजे से रात्रि 10 बजे तक) में एक करोड से अधिक लोगों के नहाने की व्यवस्था की है। विभाग द्वारा सिंहस्थ के लिए बनाए गए छह जोन में कुल 35 घाट बनाए गए हैं। इन घाटों की कुल लंबाई 7 हजार 647 मीटर और इनका 28 हजार 818 वर्गमीटर क्षेत्रफल है। इसके अलावा इन घाटों पर सीढियों वाले स्थान पर 36 लाख वर्गमीटर से अधिक क्षमता का विकास किया गया है।
विभाग द्वारा घाटों की मरम्मत के साथ श्रद्धालुओं के आने-जाने के मार्ग का चिन्हांकन किया गया है। वहीं, सिंहस्थ के दौरान शहर को जोड़ने वाले प्रमुख मार्गों पर यहां आने वाले हजारों दो एवं चारपहिया वाहनों की पार्किंग की व्यवस्था क्षिप्रा नदी के समीप की है ताकि श्रद्धालुओं को स्नान के लिए कम से कम चलना पड़ेगा। आधिकारिक जानकारी के अनुसार मेला क्षेत्र के त्रिवेणी जोन में 82 हजार विभिन्न वाहनों के लिए पार्किंग क्षमता उपलब्ध रहेगी।

हर आधे घंटे में ट्रेन, रिजर्वेशन तत्काल
सिंहस्थ के लिए रेलवे ने ट्रैफिक मूवमेंट प्लान तैयार किया है। पर्व स्नान के लिए 100 मेला स्पेशल ट्रेन चलाई जाएंगी। विभाग के मेला अफसर ने बताया यात्रियों को हर आधे घंटे में ट्रेन उपलब्ध कराई जाएगी। टिकट के लिए परेशान नहीं होना पड़ेगा। तत्काल रिजर्वेशन मिलेगा। 91 टिकट बुकिंग काउंटर के साथ दो एटीएम भी शुरू किए हैं, जहां यात्री खुद टिकट ले सकेंगे। यहां विभाग की ओर से फेसिलेटर भी तैनात रहेगा, जो जरूरत पड़ने पर यात्रियों को टिकट लेने में सहयोग करेगा।
17 मंजिला यज्ञशाला बनी
तपस्वी आत्मानंद दास महात्यागी नेपाली बाबा का पंडाल मंगलनाथ क्षेत्र में करीब 40 बीघा भूमि पर लगेगा। बाबा के पंडाल में विश्वशांति एवं कल्याण के लिए 15 दिन तक महायज्ञ होगा । इसके लिए पंडाल में 17 मंजिला यज्ञशाला का निर्माण होगा एवं विदेशी दंपत्ति भी शामिल होंगे। 8 से 21 मई तक होने वाले इस यज्ञ के लिए करीब 75 जोड़ों ने बुकिंग करवा ली है।bg7

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

* Copy This Password *

* Type Or Paste Password Here *