Posted On by &filed under राजनीति.


parikarपाकिस्तान के परमाणु हथियारों की धमकी के बीच रक्षा मंत्री मनोहर पार्रिकर ने आज उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में कहा कि भारत अपनी रक्षा करने में सक्षम है । सेना के एक कार्यक्रम में आये श्री पार्रिकर ने पाकिस्तान के रक्षा मंत्री के परमाणु हथियारों की धमकी के सम्बन्ध में सीधे कुछ भी कहने से इन्कार कर दिया, लेकिन इतना जरूर कहा कि भारत अपनी रक्षा करने में सक्षम है ।
रक्षा मंत्री पर्रिकर ने पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि वह पाकिस्तान के बयानों का जवाब नहीं देना चाहते हैं, लेकिन उन्होंने साथ ही जोड़ा, ‘ लेकिन उन्हें (पाक) मिर्ची आंध्र वाली लगी है ।’ याद रहे कि पर्रिकर ने पिछले दिनों आतंकियों से निपटने के लिए ‘कांटे से कांटा’ निकालने की नीति अपनाने की बात कही थी ।
वन रैंक वन पेशंन के मुद्दे पर श्री पर्रिकर ने कहा कि यह अंतर विभागीय मुद्दा है । जहां तक रक्षा मंत्रालय की बात है तो हमारा काम लगभग पूरा हो चुका है । इसमें समय लग रहा है लेकिन मैं कह सकता हूं कि जल्द ही अच्छी खबर होगी। एक रैंक एक पेंशन को लागू करने की मांग को लेकर पूर्व सैनिक पिछले महीने से ही दबाव बना रहे हैं ।
नवनियुक्त कैंट सदस्यों के लिए ओरिएंटेशन कार्यक्रम का उद्घाटन करने आए पार्रिकर ने कहा कि विकास परियोजनाओं में रक्षा मंत्रालय बाधा नहीं बनेगा । एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि विकास परियोजनाओं में मंत्रालय बाधा नहीं बनेगा। जहां भी विकास कार्यों की जरूरत हुई, हमने जमीन दी।
गौरतलब हो कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा था कि उनकी सरकार पूर्व सैनिकों के लिए एक रैंक एक पेंशन की बहुप्रतीक्षित मांग को लेकर प्रतिबद्ध है। वर्तमान में सेवानिवृत्त सैनिकों का पेंशन वेतन आयोग की समय-समय पर होने वाली अनुशंसाओं पर आधारित है। ओआरओपी योजना का उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि एक रैंक और समान अवधि तक सेवा देने वाले सभी सेवानिवृत्त सैनिकों को एकसमान पेंशन मिले चाहे उनकी सेवानिवृत्ति की कोई भी तारीख क्यों नहीं हो। वर्तमान में जो सैनिक 2006 से पहले सेवानिवृत्त हुए उन्हें अपने कनिष्ठ सहयोगियों की तुलना में कम पेंशन मिलता है ।

Leave a Reply

1 Comment on "आंध्र वाली मिर्ची लगी है पाकिस्तान को – पार्रिकर"

Notify of
avatar
Sort by:   newest | oldest | most voted
suresh karmarkar
Guest
suresh karmarkar

it isnatural that if our neighbourer,who was defeated three times, again dares,is to be strongly answered, DEFENCE INISTER rightly told ”we are able to defend us” ATOMIC OR NUCLEUR WAR is not a childs task. theworld has senn its after effects.

wpDiscuz