Posted On by &filed under अपराध, क़ानून.


फर्जी हस्ताक्षर करके सरकारी खजाने को चूना लगाने वाले एक उप-जिला शिक्षा अधिकारी (DEO) पर दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया की गाज गिरी है। उप-मुख्यमंत्री के निर्देश पर जिला पश्चिम-बी, जोन-18 में तैनात डीईओ बी.डी.वाधवा को सस्पेंड किया गया है। साथ ही उनके खिलाफ उत्तम नगर थाने में अंडर सेक्शन 409, 420, 468, 471 के तहत एफआईआर दर्ज कराई गई है।

वाधवा ने गवर्नमेंट ब्वायज सीनियर सेकेंडरी स्कूल, हस्तसाल में प्रिंसिपल रहते वक्त फर्जीवाड़े किये। ये 2008 से 2015 तक यहां प्रिंसिपल रहे। इस दौरान इन्होंने कई बार विभिन्न फाइलों पर अनेक अधिकारियों के फर्जी हस्ताक्षर करके सरकारी पैसे निकाले। दरअसल, एडमिनिस्ट्रेटिव अप्रूवल और एक्सपेंडीचर सैंक्शन वाली फाइलों पर इन्होंने फर्जी हस्ताक्षर किये और सरकारी खजाने को चूना लगाया। फर्जी हस्ताक्षर से प्लान और नान-प्लान दोनों मदों से पैसे निकाले गये। इनमें ग्रांट, मैगजीन प्रिंट कराने, साइंस ग्रांट, इंप्रूवमेंट साइंस टीचिंग, आई कार्ड बनवाने, मेडिकल बिल इत्यादि के नाम पर फर्जीवाड़ा किया गया। जिला पश्चिम- बी की डिप्टी डायरेक्टर एजुकेशन ने इस वित्तीय अनियमितता की जांच की। इसके बाद इनके खिलाफ ये एक्शन लिये गए।

***Manish-Sisodia-340__1137551000

Leave a Reply

1 Comment on "एजुकेशन डिपार्टमेंट के सीनियर अफसर पर गिरी उप-मुख्यमंत्री की गाज"

Notify of
avatar
Sort by:   newest | oldest | most voted
insaaniyat@indiatimes.com
Guest
insaaniyat@indiatimes.com

सर्वाधिक प्रयोग में लाया गया प्रसिद्ध शायर शौक़ बहराइची (रियासत हुसैन रिज़वी) का शेर,

बरबाद-ए-गुलिस्तां करने को बस एक ही उल्लू काफी था,
हर शाख पर उल्लू बैठा है, अंजाम-ए-गुलिस्तां क्या होगा|

एक एक कर आज सभी उल्लुओं को प्रत्यक्ष हमारे सामने ला खड़ा करता है| अब देखना यह है कि क्या न्यायालय में अभियोगी को सुनवाई के बाद दंडित किया जाता है अथवा उसे छोड़ दिया जाता है|

wpDiscuz