Posted On by &filed under राजनीति.


modichinawelcomedbygirlऐतिहासिक दौरे पर चीन पहुंचे प्रधानमंत्री मोदी
नई दिल्ली/बिजिंग, 14 मई (हि.स.)। चीन के साथ अपने संबंधों को प्रगाढ़ बनाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार तड़के भारतीय समयानुसार चार बजे चीन के शहर शि‍यान पहुंच गए हैं । इस दौरान शि‍यान हवाईअड्डे पर प्रधानमंत्री का भव्य स्वागत हुआ, वहीं शहीदों को श्रद्धां‍जलि अर्पित करने के लिए मोदी शि‍यान के टेराकोटा युद्ध स्मारक पहुंचे, जिसके बाद अब वह डाजिंगशान मंदिर गए हैं।टेराकोटा युद्ध स्मारक में मिट्टी की करीब 2,225 साल पुरानी मूर्तियां हैं । ये सभी सैनिक हैं, जो युद्ध के दौरान शहीद हुए थे। इसका निर्माण चीन के पहले शासक किन शी हॉन्ग ने करवाया था । शियान पहुंचने पर नरेंद्र मोदी का पारंपरिक रीति-रिवाज से स्वागत किया गया। उनके सम्मान में कलाकारों ने नृत्य-संगीत पेश करके वहां मौजूद हर किसी का मन मोह लिया । इस बीच प्रधानमंत्री मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के कार्यक्रम में थोड़ी तब्दीली हुई है । मोदी भारत के समयानुसार दोपहर एक बजे जिनपिंग से मुलाकात करेंगे। इसके बाद दोनों शीर्ष नेता करीब 2:20 बजे वाइल्ड गूज पगोडा के आसपास टहलेंगे ।बुधवार रात तीन दिवसीय चीन यात्रा के लिए रवाना होने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उम्मीद जताई कि उनकी इस यात्रा से परस्पर विश्वास प्रगाढ़ होगा । उन्होंने कहा कि चीन दौरे से द्विपक्षीय आर्थिक रिश्तों को उन्नत बनाने के लिए एक रूपरेखा तैयार होगी और यह एशिया व विकासशील देशों के लिए नया मील का पत्थर साबित होगी । प्रधानमंत्री के तौर पर चीन की अपनी पहली यात्रा पर जा रहे मोदी शिखर सम्मेलन के लिए सामान्य प्रोटोकॉल से हटकर एक असाधारण कदम के तहत राष्ट्रपति शी चिनफिंग के गृह शहर, प्राचीन नगरी शियान पहुंचे। पिछले साल सितंबर में भारत दौरे के दौरान मोदी ने भी चीनी नेता का अहमदाबाद में स्वागत किया था न।पीएम नरेंद्र मोदी चीन के बाद मंगोलिया और दक्षिण कोरिया की यात्रा पर भी जाएंगे। उनके साथ राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल, विदेश सचिव एस जयशंकर और वरिष्ठ अधिकारी भी गए हैं । अपने दौरे के पहले चीन के सरकारी चैनल सीसीटीवी से मोदी ने कहा, ‘मेरा मानना है कि चीन के मेरे दौरे से केवल चीन-भारत दोस्ती ही प्रगाढ़ नहीं होगी, बल्कि यह दौरा एशिया में विकासशील देशों के साथ ही दुनिया भर में संबंधों के लिए नया मील का पत्थर होगा। इसमें जरा भी संदेह नहीं है।’’ प्रधानमंत्री मोदी के बीजिंग में रहने के दौरान भारत-चीन राज्य व प्रांतीय नेताओं के फोरम की पहली बैठक में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस व गुजरात की मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल भाग लेंगी ।यात्रा के दूसरे चरण में पीएम मोदी 17 मई को मंगोलिया पहुंचेंगे। यह किसी भारतीय प्रधानमंत्री की पहली मंगोलिया यात्रा होगी। इसके बाद तीन देशों की यात्रा के अंतिम चरण में प्रधानमंत्री दक्षिण कोरिया जाएंगे, जहां वह राष्ट्रपति पार्क ग्यून हाय से मुलाकात करेंगे। दोनों देशों के नेता दोहरे कराधान से बचाव की संधि, नौवहन, परिवहन, राजमार्गों और विद्युत विकास समेत कई क्षेत्रों में समझौतों पर हस्ताक्षर करेंगे। वह वहां भारतीय समुदाय को भी संबोधित करेंगे। प्रधानमंत्री मोदी 19 मई को सोल से दिल्ली लौटेंगे

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz