Posted On by &filed under राजनीति.


TH26_GUJJAR_PROTEST_316600fगुर्जर आंदोलन फिर पटरी पर
जयपुर,। विशेष पिछड़ा वर्ग में पांच फीसदी आरक्षण की मांग को लेकर पिछले दो दिन से पीलूपुरा ट्रेक पर बैठे गुर्जर समाज के प्रतिनिधि शनिवार को तीसरे दिन भी ट्रेक पर जमे रहे। वार्ता के लिए राज्य सरकार की ओर से तीन मंत्रियों राजेन्द्र राठौड़, अरूण चतुर्वेदी व हेमसिंह भड़ाना का दल भरतपुर के बयाना में जाएगा। वहीं गुर्जरों की ओर से 21 सदस्यों का दल सरकार से वार्ता के लिए जाएगा, जिसमें कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला शामिल नहीं होंगे।नहीं मानी बात तो सड़कों पर उतरेंगेगुर्जर प्रतिनिधियों का कहना है कि यदि सरकार ने उनकी बात या मांगे नहीं मानी तो रेल ट्रेक के साथ ही आंदोलनकारी सड़कों पर भी उतरेंगे। इसके चलते बाइपास पर जाम लगाया जाएगा।10 ट्रेनों का मार्ग बदलाआंदोलन के चलते रेलवे प्रशासन ने आज 10 रेलगाड़ियों के मार्ग में परिवर्तन किया है, जबकि तीन गाड़ियों का आंशिक रूप से व 1 को पूर्ण रूप से रद्द किया है। उत्तर पश्चिम रेलवे से मिली जानकारी के मुताबिक बांद्रा टर्मिनस-गोरखपुर-बांद्रा टर्मिनस, बांद्रा टर्मिनस-मुज्जफरपुर-, मुम्बई सेंट्रल-फिरोजपुर-मुम्बई सेंट्रल, निजामुद्दीन -उदयपुर, जम्मूतवी-बांद्रा टर्मिनस, पटना-अहमदाबाद-पटना। ये गाड़ियां अजमेर, जयपुर, बांदीकुई, भरतपुर, आगरा फोर्ट, रेवाड़ी मार्ग से होकर गुजरेगी।बस पर पथरावपुलिस ने बताया कि गुर्जर आंदोलन के समर्थन में गुर्जर समाज के कुछ लोगों ने आज दौसा जिले में रोडवेज की बसों पर पत्थर फेंके जिसमें एक महिला यात्री को हल्की चोट लगी है। रोडवेज ने महुआ-बयाना और महुआ-हिंडोंन मार्गों पर बसों का संचालन बंद कर दिया है। सिंकदरा और दौसा में आज दुकाने बंद रही। गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति के कार्यकर्ताओं द्वारा कोटा मंडल के डुमरिया और फतेहसिंहपुरा स्टेशन की रेलवे ट्रेक पर कब्जा करने से कुछ ट्रेनों को रद्द कर दिया है और कुछ के मार्र्गों में परिवर्तन किया है।पश्चिम सेंट्रल रेलवे के अनुसार मुंबई से चलने वाली 14 रेलगाड़ियों को रद्द किया गया है जबकि 16 सवारी गाडियों को 22 मई और 23 मई तक वैकल्पिक मार्गो से चलाया जायेगा। पुलिस ने बताया कि भरतपुर-हिंडोंन राजमार्ग पर सड़क यातायात प्रभावित हुआ है।

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz