Posted On by &filed under राजनीति.


IndiaTvb3c2e6_modi1तीन देशों की सफल यात्रा कर मोदी स्वदेश रवाना, रात ग्यारह बजे पहुंचेंगे दिल्ली
सियोल,। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तीन देशों के सफल दौरा समाप्त कर मंगलवार को स्वदेश रवाना हो गए । पहले चीन और मंगोलिया के बाद दक्षिण कोरिया दौरे के आखिरी दिन श्री मोदी का काफी व्यस्त कार्यक्रम रहा । अपने दौरे के आखिरी पड़ाव में प्रधानमंत्री ने दक्षिण कोरिया की कंपनियों से भारत में निवेश बढ़ाने का आग्रह किया है। सियोल में मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) मंच की बैठक में उन्होंने भारत की सॉफ्टवेयर में द‍क्षता और दक्षिण कोरिया की हार्डवेयर में विशेषज्ञता के बीच सहयोग की संभावनाओं पर बल दिया । श्री मोदी रात ग्यारह बजे दिल्ली पहुंच जाएंगे ।
नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत सरकार की 2,022 तक स्‍मार्ट शहरों, औद्योगिक गलियारों और वृह्द निवेश क्षेत्रों सहित पांच करोड़ मकान बनाने की योजना है । इनमें दक्षिण कोरियाई उद्योगों को निवेश करने के अपार अवसर मिलेंगे । उन्‍होंने कोरियाई कंपनियों को रेलवे, बंदरगाहों, पोत निर्माण, भवन निर्माण, विद्युत और बुनियादी ढांचे सहित अन्‍य क्षेत्रों में निवेश के लिए आमंत्रित किया । उन्‍होंने कहा कि भारत सरकार युवाओं के लिए रोजगार के अवसर पैदा करने के वास्‍ते निर्माण क्षेत्र को प्रोत्‍साहन देने को उत्‍सुक है। श्री मोदी ने कहा कि भारत सरकार स्‍वच्‍छ और पर्यावरण अनुकूल विकास के लिए प्रतिबद्ध है। उन्‍होंने कहा कि इसके लिए निर्माण क्षेत्र में ज़ीरो डिफेक्‍ट, ज़ीरो इफेक्‍ट की नीति अपनाई जाएगी । प्रधानमंत्री ने उद्योगपतियों को, भारत में निवेश और व्‍यापार करने को सुगम बनाने के लिए अनेक उपाय करने का आश्‍वासन दिया।इससे पहले छठे एशियाई लीडरशिप फोरम को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने तीव्र वृद्धि के लिए एशियाई देशों से सम्मिलित प्रयास और अंतर्राष्‍ट्रीय आर्थिक वृद्धि बढ़ाने का आह्वान किया। जलवायु परिवर्तन का हवाला देते हुए उन्‍होंने कहा कि हमें अपनी जीवन शैली बदलने की जरूरत है। उन्‍होंने एशियाई देशों से पर्यावरण अनुकूल प्रौद्योगिकियों के लिए साथ मिलकर काम करने का आग्रह किया। इस विशेष रणनीतिक साझेदारी के तहत दोनों देश खास तौर से जिन क्षेत्रों में संबंध और मजबूत करेंगे उनमें रक्षा, नौसेना के लिए शिपयाड, राष्‍ट्रीय सुरक्षा परिषद, रक्षा प्रशिक्षण और सैन्‍य अधिकारियों की एक दूसरे के देशों में यात्राएं शामिल हैं। दोनों देश शीर्ष स्‍थल पर सालाना बैठकें करेंगे, सांसदों की पारस्‍परिक यात्राएं बढ़ाएंगे और साइबर खतरों से निपटने के लिए उपयुक्‍त व्‍यवस्‍था करेंगे। आर्थिक मोर्चे पर भारत तथा दक्षिण कोरिया दोहरे कराधान से बचाव संबंधी समझौते पर राजी हो गए हैं। इसके अलावा दोनों देश अगले साल जून से पहले सीइपीए यानी व्‍यापक आर्थिक भागीदारी करार संशोधित करने के लिए बातचीत पर सहमत हो गए हैं। इसके अलावा दक्षिण कोरियाई वित्‍त मंत्रालय और आयात निर्यात बैंक ने स्‍मार्ट सिटी, रेलवे और उर्जा जैसे आधारभूत क्षेत्रों में निर्यात ऋण और विकास निधि के तहत दस अरब अमरीकी डालर की सहायता देने की मंशा जाहिर की है। इस बीच, प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी सियोल से लगभग चार सौ किलोमीटर दूर स्थित गिमहे गये । इसके बाद वे उलसान में हुंडई हैवी इण्‍डस्‍ट्रीज शिपयार्ड को देखने गए ।

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz