Posted On by &filed under राजनीति.


चंडीगढ़,  दिल्ली के मुकरबा चौक  से पानीपत तक जीटी रोड अब आठ नहीं बल्कि 12 लेन का बनाया जाएगा। इसके लिए गत दिवस केंद्रीय सडक़ परिवहन मंत्री नीतिन गडक़री ने मंजूरी दी है और अगले दो माह में इसका निर्माण कार्य शुरू कर दिया जाएगा। सांसद रमेश कौशिक ने एक वक्तव्य में बताया कि  2128.72 करोड़ रुपए की लागत से इस 70 किलोमीटर लंबे हाइवे को नया रूप दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि दिल्ली से पानीपत तक जीटी रोड पर दोनों तरफ दो-दो लेन की सर्विस रोड बनाई जाएगी और बीच में चार-चार लेन मुख्य ट्रैफिक से लिए बनेंगी। उन्होंने कहा कि जीटी रोड पर अब कहीं पर भी कट नहीं रहेगा। इसके लिए मुख्य जगहों कुंडली, 20वां मील सहित 10 फ्लाईओवर बनाए जाएंगे। इसके अलावा 17 छोटे ब्रिज और 15 मुख्य रोड जंक्शन बनाए जाएंगे। इन रोड जंक्शनों से मुख्य सडक़ों को बगैर ट्रैफिक को बाधित किए मुख्य रोड से लिंक उपलब्ध करवाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि इन परियोजना में मुरथल, गन्नौर और समालखा में जो पुराने 12चार लेन के पुल बने हुए हैं उनका भी विस्तार किया जाएगा। उन्होंने कहा कि वर्तमान भाजपा की केंद्र व प्रदेश सरकार विकास को लेकर पूरी तरह से कृतसंकल्प है। सांसद ने कहा कि जीटी रोड के एक्सप्रैस हाईवे के रूप में तब्दील होने से जगह-जगह जाम की समस्या समाप्त हो जाएगी। श्री कौशिक ने कहा कि मेरठ से जींद और खरखौदा-झज्जर रोड को राष्ट्रीय राजमार्ग का दर्जा दिलवाया गया है। जल्द ही इस परियोजना के जरिए ही सोनीपत,गोहाना और जींद के बाईपास भी तैयार किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि किसी भी क्षेत्र के विकास के लिए सडक़ों का जाल फैलाना अति आवश्यक है।  उन्होंने कहा कि सोनीपत के रेलवे स्टेशन को मॉडल स्टेशन बनाया जा रहा है। इसके अलावा गोहाना-जींद रेलवे लाइन का कार्य भी अंतिम चरण में है और नवंबर तक इस पर गाडिय़ों का परिचालन शुरू कर दिया जाएगा।

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz