Posted On by &filed under अपराध, समाज.


फिल्लौर: नशा तस्कर अब नए-नए हथकंडे अपना रहे है। पुलिस ने यहां एक ऐसे गिरोह का पर्दाफाश किया है जो दुल्हन की आड़ में नशीले पदार्थ की खेप ले जाते थे। पुलिस ने एक नवविवाहिता सहित गिरोह के पांच सदस्यों को गिरफ्तार किया है। ये गिरोह उ.प्र. के बरेली से नशे की खेप लाने जा रहे थे। एम.एस.सी. पास इस युवती की कुछ महीने पहले ही शादी हुई है। वह अपने पति के साथ मिलकर तस्करी का धंधा कर रही थी।
जानरकारी अनुसार डी.एस.पी. सर्बजीत राय ने बताया कि पुलिस ने रात जी.टी. रोड पर डी.ए.वी. कॉलेज के पास नाका लगाया था। इस दौरान जालंधर की तरफ से आई सफेद रंग की स्कॉर्पियो, इंडिगो और इंडिका विस्टा को चेकिंग के लिए रोका गया। जांच के दौरान स्कॉर्पियो चला रहे ड्राइवर अमृतसर के रामदास क्षेत्र निवासी जसकरन सिंह बल्लू से 145 ग्राम हेरोइन तथा 22 लाख रुपए बरामद हुए। गाड़ी में बैठे दूसरे व्यक्ति की पहचान मोहाली के जगदीप सिंह के रूप में हुई। उससे पांच ग्राम हेरोइन बरामद हुई।
इंडिका कार के ड्राइवर खरड़ निवासी हरिंदर सिंह व उसके साथ लाल चूड़े में बैठी महिला की पहचान उसकी पत्नी प्रीत के रूप में हुई। उनसे 25-25 ग्राम हेरोइन, 8 मोबाइल बरामद हुआ। इंडिगो चला रहे व्यक्ति की पहचान मुंडी खरड़ के गुरप्रीत के रूप में हुई। उससे भी नशीला पदार्थ बरामद किया गया। पुलिस ने तीनों गाडियों को कब्जे में लेकर पांच आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।
जांच में आरोपियों ने बताया कि वे नशा तस्करी करते हैं। उत्तर प्रदेश के बरेली शहर से नशा लाकर अमृतसर, जालंधर और मोहाली में बेचते हैं। गिरोह का सरगना अमृतसर का जसकरन सिंह बल्लू है। उस पर पहले भी नशा तस्करी के तीन मुकदमे दर्ज हैं। वह जालंधर के टावर एनक्लेव में अपनी बहन के पास रहता था।
तस्करों ने दुल्हन के रूप में युवतियां को इस्तेमाल पुलिस से बचने के लिए करना शुरू किया है। इससे वे पुलिस से आसानी से बच निकलने में कामयाब रहते हैं। ड्रग की खेप लाने व ले जाने में दुल्हन बनीं युवतियों के इस्तेमाल का खुलासा पहली बार हुआ है। बताया जाता है कि तस्कर गिरोह काफी समय से इस तरीके का इस्तेमाल कर रहे हैं।Default (1)

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz