Posted On by &filed under राजनीति.


vasundhra-rajeशिक्षा के बिना समाज का विकास संभव नहीं: मुख्यमंत्री
जोधपुर, 23 मई (हि.स.)। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने कहा कि शिक्षा के बगैर समाज का विकास संभव नहीं है। इसलिए सामाजिक संस्थाएं और सरकार मिलकर प्रदेश में शिक्षा का वातावरण बनाएंगे। राजे शनिवार को बडली गांव स्थित राजपुरोहित समाज के नवनिर्मित छात्रावास भवन के उद्घाटन समारोह में बोल रही थीं। यह कार्यक्रम समाज के संत तुलसारामजी महाराज के सानिध्य में हुआ। समारोह में राजपुरोहित समाज के राजस्थान में रहने वाले और अप्रवासी क्षेत्र में रहने वाले राजपुरोहित समाज के सैंकड़ों लोग मौजूद थे। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर कहा कि सरकारी स्तर पर तो शिक्षा के विकास के लिए अहम योजनाएं बनाई जा रही है और सरकार गांवों और ढांणियों तक में सरकारी स्तर पर कक्षा एक से बारहवीं तक के विद्यालयों की व्यवस्था करने में प्रयासरत है ही इसके साथ सामाजिक संगठन और समाजों को राजपुरोहित समाज की तरह शिक्षा के लिए माहौल बनाने और संसाधन विकसित करने की आवश्यकता है। मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन के दौरान राजपुरोहित समाज के भामाशाहों को इस उच्च कोटि के छात्रावास निर्माण के लिए बधाई देते हुए उन्हें समाज के विकास के लिए निरन्तर सहयोग देने के साथ समाज के राजस्थान से बाहर उद्योग धंधों में जुटे हुए राजपुरोहित समाज के उद्योगपतियों से रीजेन्ट स्कीम में राजस्थान में निवेश के लिए आमंत्रित किया और उन्हें कहा कि सरकार उद्योग और उद्योपतियों के हितों के संरक्षण में निरन्तर प्रयासरत रहेगी। समय बाद मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के जोधपुर जिले में सार्वजनिक कार्यक्रम में शिरकत करने के दौरान शनिवार को पुलिस प्रशासन को मौके पर व्यवस्था संभालने में काफी मशक्कत करनी पड़ी।मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे शनिवार को अपने निर्धारित कार्यक्रम अनुसार बड़ली गांव में राजपुरोहित समाज के छात्रावास भवन के उद्घाटन समारोह में शिरकत करने आई थीं। काफी लम्बे अंतराल के बाद जोधपुर आई मुख्यमंत्री से जनता को काफी उम्मीदें थी और इसी के चलते कार्यक्रम स्थल पर राजपुरोहित समाज के अलावा सैंकड़ों लोग अपनी समस्याओं को लेकर मौजूद थे।कार्यक्रम स्थल पर ही शिक्षकों की समस्याओं को लेकर संघर्ष करने वाले शिक्षक नेता शंभूसिंह मेडितिया अपने समर्थकों के साथ कार्यक्रम स्थल पर पहुंचे और स्कूलों में टाईम टेबल और अन्य समस्याओं के निराकरण की मांग पूरी नहीं होने पर सीएम को काले झंण्डे दिखाने का कार्यक्रम तय कर रखा था। पुलिस प्रशासन ने ऐसी घटना होने की सूचना मिलने पर शिक्षक नेता शंभूसिंह को पुलिस प्रोटेक्शन में लेकर कार्यक्रम स्थल से गाडी में डालकर सरदारपुरा थाने पहुंचा दिया और अन्यों को खदेड़ दिया।आसाराम समर्थकों को खदेड़ा:कार्यक्रम स्थल पर ही नाबालिग से दुष्कर्म के आरोप में विचाराधीन कैदी के रूप में सेन्ट्रल जेल में बंद आसाराम बापू के भक्तगण बापू के खास पी.ए. शिवा के नेतृत्व में बडली पहुंचे और उन्होंने भी मुख्यमंत्री के खिलाफ प्रदर्शन का प्रयास किया जिसे पुलिस ने खदेड़कर दूर भगाया। कार्यक्रम स्थल पर स्टूडेंट फेडरेशन ऑफ इंडिया के कार्यकर्ता भी छात्र नेता की हत्या के मामले में निष्पक्ष जांच और दोषियों के खिलाफ कार्यवाही की मांग के लिए प्रदर्शन के लिए बडली पहुंची। मौके पर मौजूद पुलिस ने उनको भी सीएम तक नहीं पहुंचने दिया और खदेड़ दिया।

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz