Posted On by &filed under राजनीति.


‘गंगा आपके दरवाजे पर’ बयान से लालू की किरकिरी

‘गंगा आपके दरवाजे पर’ बयान से लालू की किरकिरी

राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव अपने ‘गंगा आपके दरवाजे पर’ बयान को लेकर विपक्षी नेताओं के निशाने पर आ गए हैं। दो दिन पहले उन्होंने राजधानी के आंचलिक इलाके में बाढ़ की स्थिति का जायजा लेते समय यह बयान दिया था।

बाढ़ पीड़ितों से बातचीत करते समय लालू ने 23 अगस्त को कहा था कि वे :लोग: भाग्यशाली हैं जो गंगा उनके दरवाजे पर आ गई है क्योंकि हर किसी को अपने घर में ‘गंगाजल’ नहीं मिलता।

उन्होंने यह भी कहा था कि बिहार में बाढ़ भाजपा शासित राज्यों द्वारा अचानक पानी छोड़े जाने की वजह से आई है।

लालू के इस बयान पर वरिष्ठ भाजपा नेता सुशील कुमार मोदी ने कहा कि राजद नेता ने इस तरह का बयान देकर बाढ़ पीड़ितों का मजाक उड़ाया है।

उन्होंने कहा, ‘‘ एक ओर राज्य सरकार राहत और बचाव कार्य करने में विफल रही है, वहीं दूसरी ओर लालू अपने असंवेदनशील बयानों से बाढ़ पीड़ितों का मजाक उड़ा रहे हैं।’’ यह राहत एवं बचाव कार्यों से लोगों का ध्यान हटाने के लिए किया जा रहा है।

भाजपा शासित राज्यों द्वारा पानी छोड़ने पर लालू की टिप्पणी पर उन्होंने कहा कि इंद्रपुरी बैराज से 11 लाख क्यूसेक पानी छोड़े जाने के चलते यह बाढ़ आई है और लालू को यह पता होना चाहिए कि यह बैराज बिहार में है न कि किसी भाजपा शासित राज्य में।

केन्द्रीय मंत्री और लोक जनशक्ति पार्टी के प्रमुख रामविलास पासवान ने लालू के बयान पर आश्चर्य जताते हुए कहा कि राजद नेता ने बाढ़ पीड़ितों के घाव पर नमक रगड़ा है। ‘‘ आप अगर बाढ़ पीड़ितों को राहत प्रदान नहीं कर सकते तो कम से कम उनका मजाक तो न उड़ाएं।’’ उन्होंने कहा कि यदि राज्य सरकार मांग करती है तो केन्द्र पर्याप्त मात्रा में बिहार को खाद्यान्न उपलब्ध कराएगा।

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने भी राजद प्रमुख के बयान की यह कहते हुए आलोचना की कि ‘‘ इस राज्य में बाढ़ से प्रभावित लोग अनाज की किल्लत से मर रहे हैं। न तो लोगों और न ही पशुओं को अनाज मिल रहा है और लालू मजाक कर रहे हैं।’’

( Source – पीटीआई-भाषा )

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz