Posted On by &filed under राजनीति.


पूजन सामग्री गंगा प्रदूषण का मुख्य कारण नहीं : उमा भारती

पूजन सामग्री गंगा प्रदूषण का मुख्य कारण नहीं : उमा भारती

नदी में डाली जाने वाली पूजन सामग्री को गंगा के प्रदूषण का मुख्य कारण मानने से इंकार करते हुए सरकार ने आज कहा कि इसका प्रमुख कारण औद्योगिक कचरा एवं सीवेज है तथा गंगा को प्रदूषित करने वाली औद्योगिक इकाइयों के विरूद्ध कड़े प्रावधानों वाला एक कानून लाने पर विचार किया जा रहा है।

जल संसाधन, नदी विकास एवं गंगा संरक्षण मंत्री उमा भारती ने राज्यसभा में प्रश्नकाल के दौरान पूरक सवालों के जवाब में कहा कि नदी में डाली जाने वाली पूजन सामग्री गंगा नदी के प्रदूषण का मुख्य कारक नहीं है। उन्होंने कहा कि यह पूजन सामग्री नदी प्रवाह के साथ स्वयं बह जाती है। किन्तु जब अन्य प्रदूषण के कारण नदी का बहाव कम या बाधित होता है तो यह पूजन सामग्री एक जगह एकत्र होकर प्रदूषण बढ़ाती है।

उन्होंने इनेलो के रामकुमार कश्यप के पूरक प्रश्न के जवाब में बताया कि गंगा नदी के प्रदूषण का मुख्य कारण इसके किनारे बसी औद्योगिक इकाइयों द्वारा इसमें डाला जाने वाला प्रदूषित जल एवं कचरा तथा सीवेज है।

उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार के सत्ता में आने के बाद सितंबर में प्रदूषण फैलाने वाली इन इकाइयों के साथ बैठक कर उन्हें गंगा में प्रदूषण रोकने के उपाय करने के निर्देश दिये गये हैं। उमा ने कहा कि सरकार गंगा नदी में प्रदूषण को रोकने के लिए एक कानून लाने पर विचार कर रही है जिसमें प्रदूषण फैलाने वाली इकाइयों के खिलाफ कड़े प्रावधान होंगे।

( Source – PTI )

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz