Posted On by &filed under मनोरंजन.


raniबॉलीवुड की रानी कही जाने वाली अभिनेत्री रानी मुखर्जी हिंदी फिल्मों की एक प्रसिद्ध अभिनेत्री हैं। रानी साल 2005 में बॉलीवुड की शीर्ष 10 सबसे शक्तिशाली व्यक्तियों में शामिल अकेली महिला थीं।

रानी अकेली ऐसी अभिनेत्री हैं, जिन्हें फिल्मफेयर पुरस्कार में तीन साल तक लगातार (2004-2006) बॉलीवुड की शीर्ष अभिनेत्री घोषित किया गया।

कोलकता के एक बंगाली परिवार में 21 मार्च, 1978 को जन्मीं रानी के पिता राम मुखर्जी हिंदी और बांग्ला फिल्मों के निर्देशक हैं, और उनकी मां कृष्णा मुखर्जी एक प्रसिद्ध पाश्र्व गायिका रह चुकी हैं। रानी के बड़े भाई राजा मुखर्जी भी फिल्म निर्देशक हैं। खंडाला गर्ल के नाम से मशहूर रानी 21 मार्च 2016 अपना 38वां जन्मदिन मनाएंगी।
फिल्मी परिवार से ताल्लकु रखने के बाद भी रानी का फिल्मी सफर इतना आसान नहीं रहा। रानी के फिल्मी करियर की शुरुआत वर्ष 1996 में अपने पिता की बांग्ला फिल्म ‘बियेर फूल’ में एक छोटे से किरदार से हुई। इसके बाद रानी के पिता के मित्र निर्माता सलीम अख्तर ने रानी को फिल्म ‘आ गले लग जा’ में एक छोटा सा किरदार करने को कहा, जिसे रानी के पिता ने ठुकरा दिया।

छोटे-मोटे किरदारों की पेशकश के बाद रानी को वर्ष 1997 में फिल्म ‘राजा की आएगी’ बारात में मुख्य अभिनेत्री की भूमिका मिली। 1998 में आई फिल्म ‘गुलाम’ ने रानी को बतौर अभिनेत्री काफी प्रसिद्धि दिलाई।

मध्यम कद और सांवले रंग की रानी मुखर्जी ने बॉलीवुड में जब दस्तक दी, तो उनकी कद-काठी को देखकर हर किसी ने उन्हें संशय की निगाह से देखा। लेकिन सामान्य कद वाली इस अभिनेत्री ने वर्ष 1998 की फिल्म ‘कुछ कुछ होता है’ में अपने अभिनय कौशल के बल पर फिल्मफेयर में सर्वश्रेष्ठ सह-अभिनेत्री का पुरस्कार जीतकर यह साबित कर दिया कि प्रतिभा का कोई कद या पैमाना नहीं होता।

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz