Posted On by &filed under राजनीति.


गुड़गांव में यातायात की स्थिति में सुधार

गुड़गांव में यातायात की स्थिति में सुधार

गुड़गांव में यातायात जाम की स्थिति में आज सुधार हुआ लेकिन लगातार हो रही बारिश के कारण शहर की मुख्य सड़कों पर वाहनों का परिचालन धीमा रहा।

शहर के एक मुख्य चौराहे पर निषेधाज्ञा लागू किए जाने के बाद जाम से राहत मिली। निषेधाज्ञा लागू हो जाने पर बड़ी संख्या में लोगों के एकत्र होने पर रोक लगा दी जाती है और इसे आमतौर पर संकटग्रस्त क्षेत्रों में ही लागू किया जाता है।

शहर में कुछ सड़कों पर 15 किलोमीटर तक जाम लगा हुआ था।

सड़कों पर यातायात के हालात सामान्य हो जाने के बाद निषेधाज्ञा कल रात हटाई गई लेकिन रात भर हुई बारिश के कारण वाहनों का परिचालन धीमा हो गया और लोगों को दिक्कत हुई।

यातायात अव्यवस्था को लेकर राजनीतिक हलकों में दोषारोपण का खेल शुरू हो गया है।

हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने इस गड़बड़ी के लिए खट्टर सरकार को दोषी ठहराया है।

उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘‘यह एक गंभीर स्थिति है। मैं कल संसद गया और मुझे कई पत्रकारों एवं अन्य लोगों से पता चला कि वे लंबे समय तक फंसे रहे। इस स्थिति के लिए कौन जिम्मेदार है? सरकार ऐसी स्थिति से बच सकती थी।’’ पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘हमने हमारे कार्यकाल में द्वारका एक्सप्रेसवे का 90 प्रतिशत काम पूरा कर लिया था। मौजूदा सरकार पिछले दो वषरें में शेष 10 प्रतिशत काम पूरा नहीं कर पाई।’’ गुड़गांव में भारी बारिश के बाद राष्ट्रीय राजमार्ग आठ पर जलभराव के चलते पिछले दो दिन से शहर की सड़कों पर भारी जाम लग गया था जिसके कारण हजारों यात्री फंस गए थे और अधिकारियों को निषेधाज्ञा लागू करनी पड़ी।

स्कूलों को भी दो दिन बंद रखने के आदेश दिए गए थे।

भारी यातायात जाम से पैदा हुई स्थिति में सुधार करने के लिए हीरो होंडा चौक के निकट निषेधाज्ञा लागू की गई थी।

( Source – पीटीआई-भाषा )

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz