Posted On by &filed under राजनीति.


Mayawati_3C--621x414प्रदेश में अपराधियों का राज, कानून व्यवस्था ध्वस्तः मायावती
लखनऊ,। उत्तर प्रदेश में सपा का राज सरकार अपराधियों, माफियाओं व साम्प्रदायिक तत्वों का राज हो गया है। कानून व्यवस्था बेलगाम हो चुकी है। इस पर किसी भी तंत्र का नियंत्रण नहीं है। सरकार भी हाथ पर हाथ धरे बैठी है। मनमानी करने वाले किसी भी सख्श के खि़लाफ सख़्त कार्रवाई नहीं हो रही है। इससे साफ है कि प्रदेश सरकार अपराधियों व माफियाओं के हाथों की कठपुतली बन गई है।ये बातें बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहीं। सुश्री मायावती मंगलवार को जारी बयान में कहा है कि प्रदेश सरकार कानून व्यवस्था बनाए रखने में नाकारा है। अपराधियों पर कोई लगाम नहीं है। झोपड़ी में रहकर आईआईटी जैसे उच्च शिक्षण संस्थान में प्रवेश परीक्षा पास करने वाले प्रतापगढ़ के लालगंज गांव के दो दलित भाईयों पर जानलेवा हमला दलितों के प्रति क्रूरतम व्यवहार है। सरकार इस मामले में चुप है, जो उसकी दलित विरधी मानसिकता को दर्शा रही है।राजधानी में हत्या, डकैती, लूट आदि गंभीर अपराधों की बाढ आ गई है। उच्च स्तर पर जालसाज़ी व धोखाधड़ी की घटनाएं हो रहीं हैं। पत्रकारों व आरटीआई कार्यकर्ताओं की प्रताड़ना व हत्याओं का सिलसिलस थमने का नाम नहीं ले रहा है। ये घटनाएं साबित करती हैं कि उत्तर प्रदेश की सरकार में ना केवल पूर्णतः जंगलराज है बल्कि सरकार नाम की कोई संस्था काम नहीं कर रही है।अपराधों के लगभग सभी मामलों के साथ साम्प्रदायिक दंगे होना सामान्य बात हो गई है। जान-माल की भारी क्षति हुई है। दंगा प्रभावित पीडि़त लोगों को मुआवजा देने की घोषणा करके प्रदेश सरकार यह दिखावा करती है कि वह बहुत ही संवेदनशील है। लेकिन सवाल यह है कि क्या ऐसे मामलों में केवल मुआवजा देने भर से कानून व्यवस्था में सुधार होगा। ऐसे अपराधियों के खिलाफ जब तक ठोस कदम नहीं उठाये जाएंगें तब तक कानून व्यवस्था पटरी पर नहीं आएगी।उन्होंने सपा सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा, गंभीर अपराधों में भी लिप्त लोगों के खि़लाफ क़ानूनी कार्रवाई करना तो दूर, सरकार में शामिल अनेक नेता और कार्यकर्ता उन्हें संरक्षण प्रदान कर रहे हैं। इससे अपराधियों का मनोबल बढ़ा रहता है। जनता लगातार शिकार बन रही है। इस दौरान उन्होंने प्रतापगढ़ जिले के दलित भाइयों पर हमला करने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की मांग की।उन्होंने सरकार पर हमला करते हुए कहा, सरकार की ग़लत नीतियों व कार्यकलापों से जनहित, जनकल्याणकारी व विकास कार्य प्रभावित है। प्रदेश में ’’अंधेर नगरी चैपट राज’’ जैसा माहौल बन गया है। अपराध-नियंत्रण व कानून-व्यवस्था की स्थिति खराब हो गई है। साम्प्रदायिक माहौल ज्यादा ख़राब व चिन्ताजनक है।

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz