लेखक परिचय

प्रवक्‍ता ब्यूरो

प्रवक्‍ता ब्यूरो

Posted On by &filed under परिचर्चा.


भोपाल। कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी ने आज राष्ष्ट्रीय स्वसेवक संघ (आरएसएस) के खिलाफ खुला मोर्चा खोलते हुए कहा कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और प्रतिबंधित संगठन स्टूडेंट्स इस्लामिक मूवमेंट आफ इंडिया (सिमी) में कोई फर्क नहीं है। दोनों ही कट्टरपंथी विचारधारा मानने वाले हैं। इन संगठनों से जुडे लोगों के लिए भारतीय युवा कांग्रेस में कोई स्थान नहीं है।

उधर राहुल के इस बयान के बाद संघ ने तीखी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि राहुल को प्रतिबंघित संगठन और राष्ट्रवादी संगठन में फर्क पता नहीं है। संघ प्रवक्ता राममाधव ने राहुल के बयान पर कहा कि राहुल को इटली और कोलम्बिया से पहले भारत को समझना चाहिए। संघ पर कट्टरपंथ के आरोप के जवाब में राम माधव ने कहा कि राहुल को शायद पता नहीं कि भारत में कट्टरपंथ को सबसे ज्यादा बढ़ावा देने वाला दल कांग्रेस ही है। राहुल इतिहास को पढ़ लें तो उन्हें पता चल जाएगा। बहरहाल, हम न तो राहुल और न ही उनके बयानों को महत्व देते हैं।

युवा कांग्रेस के चुनावों के मद्देनजर मध्यप्रदेश के तीन दिवसीय दौरे के अंतिम दिन यहां पत्रकारों से चर्चा में गांधी ने कहा कि कट्टरपंथी विचारधारा के कारण ही वह संघ और सिमी दोनों संगठनों को एक जैसा मानते हैं और इसलिए इस प्रकार की विचारधारा से जुडे लोगों के लिए कांग्रेस से जुडे संगठन में कोई जगह नहीं है। युवा नेता ने कहा कि और वह अपने इस बयान में किसी प्रकार का विवाद नहीं देखते हैं।

राजस्‍थान पत्रिका से साभार

Leave a Reply

103 Comments on "राष्‍ट्रीय स्‍वयंसेवक संघ और सिमी में कोई फर्क नहीं : राहुल गांधी"

Notify of
avatar
Sort by:   newest | oldest | most voted
Ashok Gaur
Guest
राहुल : मम्मी तेरी इटली की : पापा तेरा भारत का : = जूझे क्या पता हिन्दुस्थान क्या चीज हे : इसलिए फूट डालो साशन करो : बाली नीतियों का परित्याग करो : पुरखे बहुत पैसा जोड़कर चले गए हे : इसलिए किसी की तुलना न कर : चुनाब नजदीक आ रहे इसलिए पहले से भूमिका बनाई जा रही हे : कांग्रेस पार्टी किस तरह से अपनी रोटी सकेगी : सिर्फ देश को लूटकर बिदेसो में पहुचाया जा रहा हे : देश के साथ कोई हमदर्दी नहीं : लोग महगाई से परेशानन हे : इस तरह के फलसफे छोड़ कर… Read more »
ranbeer
Guest

इस अंग्रेज की ओलाद ने देश को लूटने के सिवा कुछ और नहीं किया है . इनका makshad देश का ईसाईकरण करना . इनकी पुराणी निति फूट डालो और राज करो की है. इन्होने देश को बर्बाद करके रख दिया है. इस अंग्रेज को देश के मान सम्मान का क्या पता .

Rekha Singh
Guest
इस फिरंगी की बात पर आप लोग उतना ही ध्यान दे, जितना जरूरी है |जिस देश में और जिस माँ से इसने जनम लिया उन गरीबो के पास था ही क्या | राजीव गांधी लन्दन में पढते समय ज्यादा पैसे खर्च कर रहे थे | उसी समय उनकी मुलाक़ात दूकान मे काम करने वाली मिसनरी अन्तोनिया मैनो(सोनिया गांधी ) से हुई | राजीव गांधी को कुछ पैसा उधार देकर , शादी करके और अब यहाँ भारत को नोच नोच कर खा रहे है ऐ लोग |इन लोगो के साथ फिरंगी मानसिकता वाले भारतीय लोग भी भारत को दीमक की तरह… Read more »
ramprakash agrwal
Guest

देश का दुर्भाग्य है की राहुल गाँधी जेसे स्तरहीन लोगो को कांग्रेस के अनुभवी ,ओर भारत को जानने वाले वरिष्ठ भी नमन कर रहें है ,. प्रधान मंत्री तक बनाने की बात कर रहें है देश भक्त ओर देशद्रोही में फर्क नहीं समझते जो उसे पी ऍम के सपने दिख रहें है क्योकि वह किसी खास खानदान का बेटा है

Pawan
Guest

बेटा राहुल अगर मम्मी की गोद के आगे भी दुनिया हैं वहा से उतरो और ये ऊल जुलूल बचपना बंद करो

wpDiscuz