लेखक परिचय

जगदीश्‍वर चतुर्वेदी

जगदीश्‍वर चतुर्वेदी

वामपंथी चिंतक। कलकत्‍ता वि‍श्‍ववि‍द्यालय के हि‍न्‍दी वि‍भाग में प्रोफेसर। मीडि‍या और साहि‍त्‍यालोचना का वि‍शेष अध्‍ययन।

Posted On by &filed under विश्ववार्ता.


हाल ही में चीन में पोर्न सामग्री के नेट द्वारा प्रचार-प्रसार पर पाबंदी लगा दी है इस पर विश्व के श्रेष्ठतम ब्लॉगर हन हन ने लिखा कि मैं सरकार की औरतों को सताने वालों के खिलाफ जो नीति रही है मैं उसका समर्थक हूँ। लेकिन पोर्न को लेकर चीनी प्रशासन का जो रवैय्या है वह हमारी समझ से परे है। कम से कम सरकार को अपने टीवी चैनलों और पीपुल्स डेली के माध्यम से यह तो बताना चाहिए कि “pornographic’’क्या है? “inappropriate’’ क्या है? उन्हें [banned] obscene and pornographic शब्दों की सूची जारी कर देनी चाहिए। मसलन् टीवी पर स्त्री एनाउंसर यह कह ही सकती है कि –

“the relevant department has initiated a stern crackdown on pornographic messages and the vulgar-ization of texting. Words to be banned include: Vagina,” इसके पुरुष एनाउंसर कह सकता है कि “penis”…that would be a truly responsible [way of handling it]. हन ने लिखा कि 20 साल पहले चीन में एक शब्द था “hoodlum” [流氓]यह ऐसे लोगों के लिए इस्तेमाल किया जाता था जिनका प्रशासन को सफाया करना होता था। इन दिनों शासकों की भाषा बदल गयी वे अब ‘‘vulgar’’ पदबंध का प्रयोग उनके लिए करते हैं जिनका सफाया करना है।

हन ने रेखांकित किया है कि चीन में इन दिनों ‘हाईकल्चर’ और ‘वल्गर’ को लेकर बहस चल रही है।

हन ने लिखा है “I’ve spent a lot of time thinking about the people who judge whether or not others are vulgar, where does their ‘high culture’ come from? For example, spending 100 RMB on a prostitute is vulgar, spending 100,000 RMB on an entertainer is high culture; if a person looks at a pornographic picture it’s vulgar, if a person looks at a classified government document it’s high culture; if a person buys a toy gun it’s vulgar, if a person uses a real gun to kill two people [probably a reference to this case] it’s high culture; if a person plays World of Warcraft it’s vulgar, if a person ‘plays’ with models it’s high culture. Of course, no one can say for sure [what’s vulgar and what isn’t], and as soon as you say for sure, you can’t do whatever you want. To prevent against a day when I might suddenly become a ‘vulgar person’, I will take the initiative, and become one now.

-जगदीश्‍वर चतुर्वेदी

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz