मोदी जी! मेट्रो सिटी नहीं ‘मेधा ग्राम’ बसाइए

Posted On by & filed under महत्वपूर्ण लेख

-राकेश कुमार आर्य- ग्राम अपने आप में एक ऐसी व्यवस्था है जिसके विषय में इसके पूर्णत: आत्मनिर्भर पूर्णत: आत्मानुशासित और पूर्णत: आत्मनियंत्रित रहने की परिकल्पना को हमारे ऋषि पूर्वजों ने साकार रूप दिया। आज के भौतिकवादी युग में किसी ईकाई या संस्था के पूर्णत: आत्मनिर्भर आत्मानुशासित अथवा आत्मनियंत्रित होने की कल्पना नहीं की जा सकती।… Read more »