मोदीमय भाजपा की सच्चाई

Posted On by & filed under चुनाव, राजनीति

-देवेन्द्र कुमार- कभी अपने चाल ,चलन और चरित्र पर इठलाती – इतराती रही भाजपा का नरेन्द मोदी का राजनीतिक विस्तार के साथ ही व्यक्तित्व केन्द्रित हो जाना एक तल्ख सच्चाई बन चुकी है। यद्धपि पहले भी भाजपा अपने नेतृत्व चयन में जिस प्रजातांत्रिक प्रक्रिया का ढि़ंढोंरा पिटती रहती थी, वह एक छलावा ही था, क्योंकि… Read more »