मनचाही नहीं अनचाही मौत: आत्महत्या

Posted On by & filed under मीडिया, समाज

प्रत्येक व्यक्ति अपने जीवन के साथ साथ अपने जीवन को समाप्त करने का अधिकार लेकर पैदा होता है। कानून भले की इस अधिकार पर प्रतिबंध लगा दे लेकिन व्यक्ति के पास यह अधिकार सदैव स्वतंत्र रहता है। कानूनी प्रतिबंध के बावजूद प्रतिवर्ष दुनिया में लाखों लोग आत्महत्या करते हैं। आत्महत्या का विचार इतना प्रबल होता… Read more »

मौत जीवन की सहेली

Posted On by & filed under कविता

-श्यामल सुमन- दूसरों की शर्त पे, जीने की आदत है नहीं टूट जाए दिल किसी का ऐसी फितरत है नहीं जाने अनजाने सभी को प्यार होना लाजिमी प्यार मिलते ही सिसकते ये हकीकत है नहीं आते ही घर, पूछ ले बस, हाल कैसा आपका क्यों बुजुर्गों ने कहा अब ऐसी किस्मत है नहीं आज बच्चों… Read more »