जहां मंत्री की मौत ऐसे हो, वहां आम आदमी…

Posted On by & filed under विविधा

-निर्मल रानी- भारतवर्ष की जीवन रेखा समझी जाने वाली भारतीय रेल जहां अपनी उपलब्धियों तथा रेल क्षेत्र में हो रहे विकास के लिए सुर्खियां बटोरती रहती है, वहीं इसके हिस्से में नाकामियों और बदनामियों की भी एक लंबी फेहरिस्त है। रेलगाड़ियों में बिना टिकट मुसाफिरों का चलना, चोर-उचक्के, नशा देकर यात्रियों का सामान लूटने वाले,… Read more »