अब यूपी में होगा धार्मिक पर्यटन का विकास

Posted On by & filed under विविधा

मृत्युंजय दीक्षित प्रदेक में योगी सरकार बनने के बाद कई क्षेत्रों में बदलाव के आसार दिखलायी पड़ने लग गये हेे। जिसमें पर्यटन भी एक है। पिछली सरकारों ने पर्यटन के क्षेत्र को छुआ तक नहीं गया था । यदि पिछली सरकारों ने पर्यटन के नाम पर कुछ किया है तो वह है मुस्लिम तुष्टीकरण। विगत… Read more »

यूपीः भंग होगा वक्फ बोर्ड, जांच होगी !

Posted On by & filed under राजनीति

आज़म खान के लिये आने वाला समय काफी मुश्किलों से भरा साबित हो सकता है। एक तरफ जहा सत्ता उनसे छिटक कर बहुत दूर जा चुकी हैं तो दूसरी तरफ उनके ऊपर अपने पद का दुरुपयोग करते हुये रामपुर के जौहर अली विश्वविद्यालय परिसर में तमाम सरकारी जमीन पर अवैध कब्ज़ा करने के मामले गर्माने लगे हैं। रामपुर के ही पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष अब्दुल सलाम ने उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को प्रमाणों के साथ एक शिकायत भेजी हैं जिसमे उन्होंने पूर्व मंत्री आजम खान के ऊपर आरोप लगाया हैं कि आजम खान ने ग्राम सींगनखेड़ा, तहसील सदर, रामपुर के खाता संख्या 01214 की ग्राम सभा की 14.95 एकड़ जमीन 30 वर्षों के लिये जबरदस्ती पट्टे पर ले रखी हैं और इसके साथ ही उन्होंने वहाँ की चक रोड (जिसकी खाता संख्या 01232 की 2.13 एकड़ भूमि पर जो की इस विश्वविद्यालय को दी गयी थी उस पर भी आज़म खान ने अवैध तरीके से कब्ज़ा कर रखा हैं।

यूपी में योगी राज से मुस्लिम खुश. ….

Posted On by & filed under राजनीति

.पिछले दिनो योगी जी द़ारा गरीब मुस्लिम लड़कियों की शादी के लिए दिए जाने वाले अनुदान के सही इस्तेमाल के लिए अनूठी योजना बनाई है. सद्भावना मंडप नाम से ये योजना केंद्र सरकार की मदद से यूपी सरकार प्रदेश के हर जिले में अमल में लाएगी. अल्पसंख्यक विभाग की समीक्षा बैठक में योगी आदित्यनाथ ने इस योजना को मंजूरी दी. इसके लिए खाका तैयार किया जा रहा है.

असाधारण चुनाव के असाधारण नतीजे

Posted On by & filed under राजनीति

जो लोग यह कह रहे हैं कि जिस व्यक्ति के पास कोई प्रशासनिक अनुभव नहीं है उसे इतने बड़े प्रदेश की बागडोर सौंप देना कहाँ तक उचित है वे भूल रहे हैं कि उप्र के पिछले मुख्यमंत्री के पास किसी प्रकार के प्रशासनिक अनुभव तो क्या कोई राजनैतिक अनुभव भी नहीं था लेकिन योगी द्वारा किए गए संसदीय कार्यों की समीक्षा करने मात्र से ही उनको अपने प्रश्न का उत्तर मिल जाएगा। 1998 से लगातार गोरखपुर से सांसद रहे योगी आदित्यनाथ के व्यापक जनाधार और एक प्रखर वक्ता की छवि को भी शायद यह लोग अनदेखा करने की भूल कर रहे हैं। जब परिवादवाद की देन एक अनुभव हीन मुख्यमंत्री को प्रदेश की बागडोर संभाल सकता है तो योगी को तो 26 वर्ष की उम्र में सबसे कम उम्र के सांसद बनने का गौरव प्राप्त है।

यूपी में योगी के साथ ‘परिवर्तन’ होगा ‘चमत्कार’ नहीं !

Posted On by & filed under राजनीति

तो नई सरकार के साथ शुरुआत में ही बदलावों की उम्मीद कतई नहीं कीजिएगा। परिवर्तन में वक्त लगता है…क्योंकि आप, हम पिछले कई सालों से खुद को ठगने का अवसर देते रहे हैं…और उसे अब बदलने के लिए वक्त लगना लाजिमी है।

जनादेश बड़ा होता है तो जनाकांक्षाएँ भी बड़ी होती हैं

Posted On by & filed under विविधा

यूपी में भारतीय जनता पार्टी की इस ‘सुपर लैंड-स्लाईड विक्ट्री’ से ये स्पष्ट है कि जनता के मिजाज और नब्ज को मोदी-शाह और उनकी टीम ने बाकी ‘सबों’ से बेहतर भाँपा l इस ‘सब’ में मोदी – भाजपा विरोधी पार्टियाँ भी हैं , मीडिया का वो तबका भी है जो भाजपा की जीत का आक्लन… Read more »

यूपी में सभी पार्टियों के अपने-अपने दावे

Posted On by & filed under राजनीति

उत्तर प्रदेश का चुनावी समर अपने उफान पर है, 11 फरवरी 2017 को पहले चरण का मतदान होना है। इसलिए उत्तर प्रदेश की सभी प्रमुख पार्टियां अपने-अपने प्रचार को धार देने में लगी हैं और भाजपा और सपा जैसी दिग्गज पार्टियों ने अपने घोषणा पत्र में लोक लुभावने वायदे कर लोगों को लुभाने का दांव… Read more »

यूपी : करोड़ों की ‘विकास रथयात्रा’ बनाम किसानों की शवयात्रा

Posted On by & filed under राजनीति

बस में एक लाउडस्पीकर भी फिट है जिसमें समाजवादी सरकार के विकास कार्यों का एक कैपेन सॉन्ग बजेगा। साथ ही इंटरनेट कनेक्टिविटी, वाई-फाई जैसी सुविधाएं भी हैं। लेटेस्ट खबरों पर नजर रखने के लिए बस में बड़ी टीवी स्क्रीन लगी है। बस पर सीएम अखिलेश यादव का साइकिल चलाते हुए एक बड़ा फोटोग्राफ लगा हुआ है। बस के सामने की ओर साइकिल का फोटो है, जो कि समाजवादी पार्टी का चुनाव चिन्ह है। समाजवादी रथ के पीछे पार्टी सुप्रीमो और पिता मुलायम सिंह यादव की दो फोटो लगी हुई है।

यूपी में परवान चढ़ती जातिवादी सियासत

Posted On by & filed under राजनीति

  संजय सक्सेना उत्तर प्रदेश की सियासत अब दिल की जगह दिमाग के सहारे परवान चढ़ रही हैै। सभी दलों के सूरमा ‘लक्ष्य भेदी बाण’ छोड़ रहे हैं। यही वजह है बसपा सुप्रीमों मायावती अपने दलित वोट बैंक को साधे रखने के लिये बीजेपी को दलित विरोधी और मोदी की सरकार को पंूजीपतियों की सरकार… Read more »

यूपी : दलितों को लेकर भाजपा-बसपा में टकराव

Posted On by & filed under राजनीति

संजय सक्सेना उत्तर प्रदेश में कानून व्ववस्था का बुरा हाल है। आपराधिक तत्वों के हौसले इतने बुलंद हैं कि उनके कहर ने न खादी बच पाई है न खाकी। आम जनता की तो बात ही अलग है। वह तो हमेशा से गेहूं में घुन की तरह पिसती रहती है। समाज का कोई ऐसा तबका नहीं… Read more »