कमाई का योग

Posted On by & filed under विविधा

दिल्ली का राजपथ गवाह  है जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पहल पर 21 जून, 2015 को विश्व के 192 देश योगपथ पर भारत के साथ चले तो पूरे विश्व में योग का डंका बजने लगा। कुछ समय पहले तक जिस योग को  ऋषि मुनियों की साधना और स्वस्थ जीवन के आधार समझा जाता था आज… Read more »

योग से आती है मनुष्य में सकारात्मकता

Posted On by & filed under समाज

27 सितंबर 2014 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संयुक्त राष्ट्र में अपने पहले संबोधन में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाने की जोरदार पैरवी की थी। इस प्रस्ताव में उन्होंने 21 जून को ‘‘अंतरराष्ट्रीय योग दिवस’’ के रूप में मान्यता दिए जाने की बात कही थी। मोदी की इस पहल का 177 देशों ने समर्थन किया। संयुक्त राष्ट्र महासभा के 69वें सत्र में इस आशय के प्रस्ताव को लगभग सर्वसम्मति से स्वीकार कर लिया। और 11 दिसम्बर 2014 को को संयुक्त राष्ट्र में 193 सदस्यों द्वारा 21 जून को ‘‘अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस’’ को मनाने के प्रस्ताव को मंजूरी मिली।

जीवन को बदलो-यही है योग दिवस का उद्घोष

Posted On by & filed under समाज, स्‍वास्‍थ्‍य-योग

ललित गर्ग – आज की तेज रफ्तार जिंदगी मनुष्य को अशांति, असंतुलन, तनाव, थकान तथा चिड़चिड़ाहट की ओर धकेल रही हैं, जिससे अस्त-व्यस्तता बढ़ रही है। ऐसी विषमता एवं विसंगतिपूर्ण जिंदगी को स्वस्थ तथा ऊर्जावान बनाये रखने के लिये योग एक ऐसी रामबाण दवा है जो, माइंड को कूल तथा बॉडी को फिट रखता है।… Read more »

योग के बल पर कैंसर पर विजय

Posted On by & filed under जरूर पढ़ें

अनुवादक: डॉ. मधुसूदन सकाल (सकार)वृत्तसेवा, सोमवार, २२ जून २०१५ कोल्हापूर- योगद्वारा केवल मनः शांति ही नहीं; पर कैंसर जैसे गंभीर रोग पर भी विजय प्राप्त किया जा सकता है, यह गडमुडशिंगी (ता. करवीर) के निवासी शिवाजी सदाशिव पाटील नामक सज्जन ने सिद्ध कर दिखाया है। कैंसर के नाम से भी अनेक लोगों के दिल बैठ… Read more »

योग दिवस पर भारत करेगा विश्व का नेतृत्व

Posted On by & filed under जन-जागरण, टॉप स्टोरी, विविधा, सार्थक पहल

सुरेश हिन्दुस्थानी कहा जाता है कि विश्व का आध्यात्मिक और वैचारिक दर्शन जहां पर समाप्त होता है, भारत का दर्शन वहाँ से प्रारम्भ होता है। भारत आज भी कई मामलों में विश्व के अनेक देशों से बहुत आगे है। हमारा भारत देश आज भी इतना संसाधन सम्पन्न है कि विश्व के कई देश अनेक विधायों… Read more »