हाथी बड़ा भुखेला

Posted On by & filed under बच्चों का पन्ना

हाथी बड़ा भुखेला अम्मा, हाथी बड़ा भुखेला| खड़ा रहा मैं ठगा ठगा सा, खाये अस्सी केला अम्मा, खाये अस्सी केला| सूंड़ बढ़ाकर रोटी छीनी, दाल‌ फुरककर खाई| चाची ने जब पुड़ी परोसी, लपकी और उठाई| कितना खाता पता नहीं है, पेट बड़ा सा थैला अम्मा, पेट बड़ा सा थैला| चाल निराली थल्लर थल्लर, चलता है… Read more »