किसान आक्रोश के निहितार्थ और हिंसा

Posted On by & filed under विविधा

मंदसौर में जो कुछ हुआ वह चिन्ता का विषय है। कांगे्रस की उसमें भूमिकी रही होगी, यह भी स्वाभाविक है। क्योंकि मध्यप्रदेश में कांगे्रस विपक्षी दल की भूमिका में है। विपक्षी दल होने के नाते उससे सरकार के समर्थन की अपेक्षा करना संभव ही नहीं है। सरकार की ओर से भी कहा गया है कि इस आंदोलन के पीछे कांगे्रस का हाथ है। यह सही भी हो सकता है, लेकिन संभावना यह भी व्यक्त की जा रही है कि आंदोलन में असामाजिक तत्व भी शामिल हो गए थे, ऐसे में सवाल आता है कि अगर असामाजिक तत्व शामिल थे तब सरकार का गुप्तचर विभाग क्या कर रहा था।

हिंसक आंदोलनों पर न्यायालय की टेढ़ी नजर

Posted On by & filed under राजनीति

अरविंद जयतिलक यह उचित है कि देश की सर्वोच्च अदालत ने आंदोलन के नाम पर सार्वजनिक संपति का दहन करने वालों के विरुद्ध कड़ा कदम उठाते हुए ताकीद किया है कि आंदोलन से जुड़े राजनीतिक दलों और संगठनों को आंदोलन से हुई क्षति की नुकसान की भरपायी करनी होगी। न्यायालय ने यह आदेश गुजरात में… Read more »