हिन्दुत्व के शब्दवीरों का अविवेकजगत

Posted On by & filed under विविधा

-जगदीश्‍वर चतुर्वेदी आमतौर पर लोग पूछते हैं कि फासीवाद की भाषा का नमूना कैसा होता है? फासीवाद पर जिन लोगों ने अकादमिक अध्ययन किया है और उसकी विभिन्न धारणाओं और पहलुओं की गंभीर मीमांसा की है उन विद्वानों को पढ़कर आप सहज ही पता कर सकते हैं कि फासीवाद की भाषा में सत्य की सबसे… Read more »

गाँधी और हिन्दुत्व-2

Posted On by & filed under हिंद स्‍वराज

हम महात्मा गांधी को राष्ट्र पिता कहते हैं, किंतु उनकी जयंती और पुण्यतिथि पर भाषणबाजी और कुछ समारोहों के आयोजन के अलावा इस बात की जरा भी परवाह नहीं करते कि उन्होंने अपने अद्भुत नेतृत्व के दौरान क्या किया और क्या संदेश दिया? हिंदुत्व पर उनके गहन विचारों के बारे में तो हमारा बिल्कुल ही… Read more »

गाँधी और हिन्दुत्व-1

Posted On by & filed under हिंद स्‍वराज

गाँधी का जन्म हिंदू धर्म में हुआ, उनके पुरे जीवन में अधिकतर सिधान्तों की उत्पति हिंदुत्व से हुआ. साधारण हिंदू कि तरह वे सारे धर्मों को समान रूप से मानते थे, और सारे प्रयासों जो उन्हें धर्म परिवर्तन के लिए कोशिश किए जा रहे थे उसे अस्वीकार किया.

शाकाहार का विचार और गाँधी जी

Posted On by & filed under प्रवक्ता न्यूज़

बाल्यकाल में गांधी को मांस खाने का अनुभव भी मिला। उनकी जिज्ञासा के उत्साहवर्धक में उनके मित्र शेख मेहताब का सहयोग मिला । शाकाहार का विचार भारत की हिंदु और जैन परम्पराओं में कूट-कूट कर भरा हुआ था .उनकी मातृभूमि गुजरात में ज्यादातर हिंदु शाकाहारी ही थे।

कलक्टर का अप्रत्यक्ष ब्यान ; कंधमाल के दंगों के पीछे धर्मांतरण की भूमिका हो सकती है

Posted On by & filed under प्रवक्ता न्यूज़, समाज

कंधमाल में पिछले साल हुए दंगों के मामले में जांच कर रहे न्यायिक आयोग को पूर्व जिला मजिस्ट्रेट ने बताया कि 2004 से 2007 के बीच धर्मांतरण के मामले आधिकारिक तौर पर दर्ज दो मामलों से ज्यादा थे। वहां धर्मातरण के कई मामले थे, लेकिन कुछ ही जानकारी जिला प्रशासन को मिली। कंधमाल में विहिप नेता लक्ष्मणानंद सरस्वती की हत्या के बाद बड़े स्तर पर सांप्रदायिक हिंसा भड़क गई थी।

गुजरात उपचुनावों में भाजपा का जलवा

Posted On by & filed under प्रवक्ता न्यूज़, राजनीति

लोकसभा चुनावों न जीत पाने के गम से भारतीय जनता पार्टी शीघ्र उबरती हुई नज़र आ रही है . पार्टी में चाल रहे अंतर्कलह को दरकिनार करते हुए भाजपा ने विधान सभा उप चुनावों में शानदार प्रदर्शन करते हुए गुजरात की 7 में से 5 सीटों पर जीत हासिल की है। पार्टी को उत्तराखंड में एक और मध्य प्रदेश में भी एक सीट पर विजयश्री मिली है।

हिन्दुत्व…एक दृष्टि और जीवन पध्दति

Posted On by & filed under धर्म-अध्यात्म

क्या हिंदुत्व को सच्चे अर्थों में धर्म कहना सही है? इस प्रश्न पर उच्चतम न्यायालय ने -‘शास्त्री यज्ञपुरूष दासजी और अन्य रूदि्ध मूलदास भूरदास वैश्य और अन्य [1966 (3) एस.सी.आर. 242] के प्रकरण का विचार किया। इस प्रकरण में प्रश्न उठा था कि क्या स्वामी नारायण संप्रदाय हिंदुत्व का भाग है अथवा नहीं है?’ इस… Read more »