हिन्दू चिंतन आज की वैश्विक आवश्यकता : डॉ. मोहनराव भागवत

Posted On by & filed under टॉप स्टोरी

संघ अनुभूति से समझने का विषय है। संघ में ऐसे व्यक्ति कैसे तैयार होते हैं जो अपना सुखदुख भूलकर राष्ट्र के लिये स्वयं का होम कर देते हैं। संघ में श्रीपति और नाना जी देशमुख जैसे राष्ट्रभक्त तैयार होते हैं। संघ दूर से समझ में नहीं आता। कुछ बाते करने की होती हैं। संघ कार्य… Read more »