हीरा मंडी

Posted On by & filed under कहानी

राजकुमार सोनी आज बाजार में बहुत चहल-पहल है, गाना बजाना रास्ते भर औरतें सज-संवरकर खड़ी थीं और क्यों न हों, आज पूरा बाजार ग्राहकों से भरा पड़ा था। कजरी बाई का कोठा सबसे ज्यादा गुलजार था, क्योंकि उस बाजार की दो हुस्न परियां उसके कोठे की शान थीं- शानो और मलिका। इस बाजार में बड़े-बड़े… Read more »