खेल को चाहिए नई नकेल

Posted On by & filed under खेल जगत

हिमांशु शेखर 2010 को भारत के लिए घोटालों का साल माना जाता है। इसी साल कई बड़े घोटाले उजागर हुए। चाहे वह 2जी स्पेक्ट्रम की नीलामी का मामला हो या फिर शहीदों के नाम पर बन रही आदर्श सोसायटी में फ्लैट कब्जाने का मामला। इसी साल काले धन के मसले ने भी काफी जोर पकड़ा।… Read more »

मैदानों में सना कीचड़

Posted On by & filed under खेल जगत

-संजय द्विवेदी खेल और खेल उत्सव दोनों अब इतने पवित्र नहीं रहे कि उनसे बहुत नैतिक अपेक्षाएं पाली जाएं। हाकी के खिलाड़ियों के यौन उत्पीड़न को लेकर जो खबरें सामने आई हैं उसमें नया कुछ भी नहीं हैं। ये चीजें तभी सामने आती हैं जब इसमें कोई एक पक्ष विरोध में उतरता है या कोई… Read more »