अखिलेश सरकार की कथनी व करनी में खुला विरोधाभास !

Posted On by & filed under राजनीति

मोहम्मद आसिफ इकबाल भारत की राजनीति बड़ी दिलचस्प है साथ ही यहां के लोग भी राजनीति में खूब रुचि रखते हैं। छोटा हो या बड़ा, पढ़ा लिखा हो या अनपढ़, कार्यालय में काम करने वाला हो या खेत खलिहान में, चाय की दुकान पर बैठे लोग हों या बसों और ट्रेनों में यात्रा करते यात्री, कोई भी स्थान हो और किसी… Read more »

‘जो कुछ भी आज अतीत है वो भविष्य की बात होगी!’ : उत्तरप्रदेश चुनाव

Posted On by & filed under राजनीति

कीर्ति दीक्षित कैम्ब्रिज के इतिहासकार  एफ. डब्ल्यू. मीटलैंड ने कहा था – ‘जो कुछ भी आज अतीत है वो भविष्य की बात होगी’  ये तथ्य अब भी उतना ही ताजा है । वर्तमान और भूतकाल के परिदृश्य का मूल्याङ्कन करके आप निश्चय कीजिये कि हमारी राजनीति कितनी बदली है। उत्तरप्रदेश गुजरे साल से राजनैतिक अखाडा… Read more »

सबसे बड़ा सवाल कहां हैं मुलायम !

Posted On by & filed under राजनीति

संजय सक्सेना उत्तर प्रदेश में 17वीं विधान सभा के लिये हो रहे चुनाव कई मायनों में हट के नजर आ रहे हैं। सबसे खास बात यह है कि पिछले 25-30 वर्षो से यूपी की राजनीति जिन मुलायम ंिसंह यादव के बिना अधूरी समझी जाती थी,वह इस बार चुनावी परिदृश्य से पूरी तरह बाहर हो गये… Read more »

अखिलेश 19 को आगरा से फूकंेगे चुनावी बिगुल

Posted On by & filed under राजनीति

आगरा सहित पश्चिमी यूपी मेें कल से नामांकन प्रक्रिया संजय सक्सेना उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव पहले चरण में 15 जिलों की 73 सीटों के लिए कल (17जनवरी) से नामांकन प्रक्रिया शुरू हो जायेगी। इसके लिये चुनाव आयोग ने इन जिलों में नामांकन की तैयारियां पूरी कर ली है। पहले चरण में पश्चिमी यूपी में चुनाव… Read more »

नेताजी की आखिरी स्क्रिप्ट है ये कलह

Posted On by & filed under राजनीति

अनुश्री मुखर्जी वर्तमान राजनीतिक परिदृश्य में देश में अधिकांशतः केवल एक ही राज्य पर चर्चा होती है, वो है उत्तर प्रदेश। होना भी चाहिए। देश के सबसे बड़ा राज्य में चुनाव। उस पर सत्तासीन सरकार में घमासान। कहां गया महागठबंधन का फॉर्मूला ? यानि जहां योजना बननी चाहिए, वहां मतभेद, वो भी मीडिया में प्राइम… Read more »

सपा के असमंजस में विकल्प की तलाश

Posted On by & filed under राजनीति

सुरेश हिन्दुस्थानी एक कहावत है कि दुश्मन से तो बचा जा सकता है, लेकिन जब अपने ही दुश्मन हो जाएं तो बचने की उम्मीद किसी भी तरीके से संभव नहीं होती। वर्तमान में समाजवादी पार्टी में कुछ इसी प्रकार के हालात दिखाई दे रहे हैं। जहां अपने ही दुश्मन बनकर आमने सामने आ चुके हैं।… Read more »

हमें राजनीति सापेक्ष बनना होगा

Posted On by & filed under राजनीति

राकेश कुमार आर्य हमारे देश में प्रजातंत्र की मजबूत जड़ों के होने की बात अक्सर कही जाती है, पर जब हम उत्तर प्रदेश में हो रही राजनीति की वर्तमान दुर्दशा के चित्रों को बार-बार घटित होते देखते हैं, तो यह विश्वास नहीं होता कि भारत में प्रजातंत्र की गहरी जड़ें हैं। उत्तर प्रदेश सहित कई… Read more »

सपा के राजनीतिक नाटक के निहितार्थ

Posted On by & filed under राजनीति

सुरेश हिन्दुस्थानी उत्तरप्रदेश सरकार के समक्ष पैदा हुआ संकट फिलहाल टलता हुआ दिखाई दे रहा है। परंतु इस सत्य को नकारा नहीं जा सकता कि सपा में एक छत्र राज करने वाले मुलायम परिवार का यह महाभारत मात्र परिवार के सदस्यों के स्वार्थ के कारण ही हुआ। एक तरफ मुलायम सिंह यादव के भाई शिवपाल… Read more »

क्यों भई चाचा, हां भतीजा

Posted On by & filed under राजनीति, व्यंग्य, साहित्‍य

बचपन में स्कूल से भागकर एक फिल्म देखी थी ‘चाचा-भतीजा।’ उसमें एक गीत था, ‘‘बुरे काम का बुरा नतीजा, क्यों भई चाचा.., हां भतीजा।’’ फिल्म के साथ यह गाना भी उन दिनों खूब लोकप्रिय हुआ था। आजकल भी ये गाना उत्तर प्रदेश के राजनीतिक गलियारों में जूतों की ताल पर खूब बज रहा है। इस… Read more »

उत्तर प्रदेश विधानसभा भंग करने का सिफारिश हो सकता है

Posted On by & filed under राजनीति

डा. राधेश्याम द्विवेदी उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी के युवा नेता मा.अखिलेश यादव के अथक प्रचार प्रसार तथा इसी पार्टी के तीन बार मुख्य मंत्री रहे धरतीपुत्र मा. मुलायम सिंह यादव के पुराने कार्यों पर यकीन करते हुए प्रदेश की जनता ने मार्च 2012 में स्पष्ट विशाल बहुमत देकर सत्तासीन किया था. सर्व प्रथम इस… Read more »