बिहार का दलित जाये तो जाये कहां ?

Posted On by & filed under राजनीति

-आशीष आशू-    एक ओर जननायक के इंतजार में बिहार के बहुजन 15 अगस्त 2007 और 15 अगस्त 2013 के बीच क्या संबंध है. निश्चित तौर पर यह भारत देश की आजादी की तिथि है, लेकिन बात जब बिहार राज्य की हो तो, यह मामला दलित, अतिपिछड़ों व पिछड़ों की हकमारी के दिन के तौर… Read more »