भगवान बिरसा मुण्डा

Posted On by & filed under शख्सियत, समाज

न भूतो न भविष्यति वीरेन्द्र सिंह परिहार मुण्डा जाति वर्तमान झारखण्ड राज्य के दक्षिण-पूर्वी तथा सिंहभूमि से सटे भागों में निवास करती है। मुण्डाओं की भाषा मुण्डारी कहलाती है। मुण्डा जाति अनेक गोत्र समूहों से मिलकर बनी है, जिन्हे किलि कहा जाता है। एक किलि के सभी सदस्य एक ही पूर्वज के माने जाते है।… Read more »