एक फॉन्‍ट की ताकत: जिसने एक सत्‍ताधीश को कुर्सी से उतार फेंका

Posted On by & filed under विश्ववार्ता

कभी कवि रामधारी सिंह “दिनकर” ने कलम का महत्‍व बताते हुए लिखा था- दो में से क्या तुम्हें चाहिए कलम या कि तलवार  मन में ऊँचे भाव कि तन में शक्ति विजय अपार अंध कक्ष में बैठ रचोगे ऊँचे मीठे गान या तलवार पकड़ जीतोगे बाहर का मैदान कलम देश की बड़ी शक्ति है भाव… Read more »